शरद की जगह नीतीश संभालेंगे जेडीयू की कमान?

  • 10 अप्रैल 2016
नीतीश कुमार और शरद यादव इमेज कॉपीरइट Sanjay Kumar

नीतीश कुमार के जनता दल-यूनाइटेड(जेडीयू) के अगले अध्यक्ष बनने की संभावना और राष्ट्रीय लोक दल और झारखंड विकास मंच के साथ पार्टी के विलय की प्रक्रिया के बारे में बता रहे हैं जेडीयू प्रवक्ता केसी त्यागी.

शरद यादव जनता दल-यूनाइटेड के लगातार तीन बार अध्यक्ष रह चुके हैं. पिछली बार जब 2013 में वो अध्यक्ष बने थे तब पार्टी के संविधान में संशोधन करना पड़ा था क्योंकि पार्टी के संविधान के मुताबिक़ कोई दो ही बार अध्यक्ष बन सकता है.

इस बार उन्होंने स्वंय ही मना कर दिया और मुझसे कहा कि मैं यह बयान जारी करूं कि वो अब चौथी बार के लिए तैयार नहीं हैं.

जब कार्यकारिणी की बैठक होगी तो वो अपना त्यागपत्र ख़ुद दे देंगे.

अगर नीतीश कुमार पार्टी के अध्यक्ष बनते हैं तो ये पार्टी का आंतरिक मामला होगा लेकिन यह बात भी सही है कि पार्टी के अंदर उनके अनुभव और योग्यता के लिहाज़ से उनके लिए लोगों का मन बन रहा है.

जहां तक प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार की बात है तो हमारी पार्टी इतनी बड़ी पार्टी नहीं है कि हम पार्टी अध्यक्ष को प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार के तौर पर पेश करें.

इमेज कॉपीरइट Niraj Sahai

हालांकि नीतीश कुमार के अंदर प्रधानमंत्री बनने की सभी क्षमताएं और योग्ताएं मौजूद हैं. लेकिन हमारा पहला मक़सद भाजपा की विभिन्न राज्यों में बढ़त को रोकना है.

इसके लिए हमारी पार्टी और नए अध्यक्ष सभी तरह के प्रयास करेंगे.

राष्ट्रीय लोक दल के साथ अभी हमारा विलय नहीं हुआ है इसलिए चुनाव आयोग के आदेश के अनुसार प्रखंड से लेकर ज़िला और राष्ट्रीय स्तर तक प्रस्ताव पास करा कर ही विलय की प्रक्रिया सही मानी जाएगी.

इसलिए हमारी पार्टी, राष्ट्रीय लोक दल और झारखंड विकास मंच के नेता बाबूलाल मरांडी सभी अपने-अपने तरीक़े से इस प्रक्रिया में लगे हुए हैं.

(जेडीयू नेता केसी त्यागी से बीबीसी संवाददाता वात्सल्य राय की बातचीत पर आधारित)

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार