प्यासों के पास पहुंची पानी एक्सप्रेस

  • 12 अप्रैल 2016
पानी एक्सप्रेस इमेज कॉपीरइट Manoj Aakhade

महाराष्ट्र के सूखा प्रभावित मराठवाड़ा के लातूर ज़िले के लोगों के लिए पीने का पानी लेकर चली ट्रेन मंगलवार सुबह लातूर पहुंच गई.

वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक करें
इमेज कॉपीरइट anoj Aakhade

लातूर में इस रेल गाड़ी का फूल चढ़ाकर और नारियल फोड़ कर स्वागत किया गया.

इमेज कॉपीरइट Manoj Aakhade

इस रेलगाड़ी में 50 हज़ार लीटर की क्षमता वाले 10 टैंकर लगे हुए हैं. यह ट्रेन सांगली ज़िले के मिराज से पानी लेकर रवाना हुई थी. इस ट्रेन में पांच लाख 40 हज़ार लीटर पानी है.

पानी एक्सप्रेस को मिराज से लातूर की 342 किमी की दूरी को तय करने में 17 घंटे लगे.

इमेज कॉपीरइट Manoj Aakhade

मंगलवार सुबह साढ़े पांच बजे जब यह रेलगाड़ी रेलवे स्टेशन पहुंची तो उसका स्वागत करने के लिए वहां क़रीब डेढ़ सौ लोग मौजूद थे.

इमेज कॉपीरइट Manoj Aakhade

ट्रेन के पहुंचने के बाद लोग अपने अपने मोबाइल फ़ोन से तस्वीरें खींचने लगे. लोगों ने गाड़ी के ड्राइवर, गार्ड और रेलवे पुलिस के कर्मियों का स्वागत किया गया.

इमेज कॉपीरइट Manoj Aakhade

लातूर रेलवे स्टेशन के पास एक निजी कुएं में इस पानी को उतारा गया. वहां से टैंकरों द्वारा इसे महानगरपालिका के जल शुद्धिकरण प्लांट में ले जाया गया. वहां से पानी के टैंकरों से इसे लोगों तक पहुंचाया जाएगा.

इमेज कॉपीरइट Manoj Aakhade

इसी तरह एक और ट्रैन अगले कुछ दिन में आ सकती है. आने वाली ट्रेनों में टैंकरों की संख्या बढ़ाई जाएगी और उनके फेरे भी.

इमेज कॉपीरइट Manoj Aakhade

महाराष्ट्र ख़ासकर मराठवाड़ा में लोग सूखे की मार से परेशान हैं. इससे प्रदेश की भाजपा-शिवसेना सरकार परेशान हैं.

इमेज कॉपीरइट Manoj Aakhade

लातूर में ट्रेन से पानी आपूर्ति कराने का पहला फ़ैसला 2013 में तत्कालीन कांग्रेस-एनसीपी सरकार ने लिया था. लेकिन उसपर अमल होने में तीन साल लग गए.

इमेज कॉपीरइट Manoj Aakhade

मुख्यमंत्री देवेंद्र फणनवीस ने मंगलवार सुबह स्वयं ट्वीट कर ट्रेन के लातूर पहुँचने की जानकारी दी. उन्होंने यह भी बताया कि ट्रेन से पेयजल का वितरण जल्द शुरू होगा.

इमेज कॉपीरइट Manoj Aakhade

पानी एक्सप्रेस के लातूर पहुंचने के बाद भाजपा के कुछ स्थानीय नेताओं ने ट्रेन पर पोस्टर लगाकर और उसके आगे खड़े होकर तस्वीरें भी खिंचवाईं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार