मानवाधिकार आयोग का केरल सरकार को नोटिस

इमेज कॉपीरइट AP

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने केरल के कोल्लम स्थित मंदिर में आतिशबाज़ी के कारण लगी आग की घटना पर राज्य सरकार को नोटिस जारी किया है.

पारावुर के पुत्तिंगल मंदिर में आतिशबाज़ी के कारण पटाखों में आग लगने से 108 लोगों की मौत हो गई थी और क़रीब 400 लोग घायल हुए थे.

आयोग ने मीडिया की खबरों पर स्वतः संज्ञान लेते हुए राज्य के मुख्य सचिव और कोल्लम के ज़िलाधिकारी तथा पुलिस अधीक्षक को चार सप्ताह के भीतर इस बारे में रिपोर्ट देने को कहा है.

आयोग ने मुख्य सचिव से कहा है कि फिर ऐसी दुर्घटना न हो, इसके लिए राज्य सरकार द्वारा किए गए उपायों की जानकारी दें.

इमेज कॉपीरइट AP

इस बीच, कोल्‍लम की जिला मजिस्‍ट्रेट पैनामोल ने कहा है कि मंदिर में आतिशबाज़ी त्रासदी पुलिस की लापरवाही के कारण हुई है.

श्रीमती पैनामोल ने कहा कि जब उन्‍होंने आतिशबाज़ी की अनुमति नहीं दी थी तब पुलिस ने इसकी अनुमति कैसे दी.

मंदिर में आतिशबाज़ी से हुए हादसे में पुलिस ने पांच लोगों को हिरासत में लिया है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

जिन पांच लोगों को पुलिस ने पकड़ा है वो पुत्तिंगल मंदिर में ही काम करते थे. इनसे बिना इजाज़त आतिशबाज़ी के मामले में पूछताछ की जा रही है.

राज्य सरकार ने हादसे की न्यायिक जांच के आदेश पहले ही दे दिए हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार