भारत में हर चौथा आदमी सूखा पीड़ित

इमेज कॉपीरइट Manoj Aakhade

भारत सरकार ने सुप्रीम कोर्ट से कहा है कि देश में कम से कम 33 करोड़ लोग सूखे की चपेट में हैं.

अधिकारियों के मुताबिक़ यह आंकड़ा और बढ़ सकता है क्योंकि सूखा प्रभावित कुछ राज्यों ने अब तक इससे जुड़े आंकड़े नहीं दिए हैं.

भारत में गर्मी की वजह से सूखे की समस्या भी बढ़ रही है. ज़्यादातर इलाक़ों में दिन का तापमान 40 डिग्री सेल्सियस के पार हो गया है.

महाराष्ट्र के एक गांव में पंप से पानी लाने के दौरान 11 साल की एक लड़की की मौत भी हो गई.

इमेज कॉपीरइट

स्थानीय पत्रकार मनोज साप्टे ने बीबीसी को बताया कि रविवार को पानी लाने के लिए योगिता देसाई चार घंटे तक 42 डिग्री तापमान में रहीं.

घर पहुँचने पर उनकी तबियत बिगड़ी और उन्हें अस्पताल ले जाया गया, लेकिन सोमवार को उनकी मौत हो गई.

पानी के लिए भारत बहुत हद तक मॉनसून पर निर्भर करता है, लेकिन पिछले दो साल से भारत में मॉनसून काफ़ी कमज़ोर रहा है.

भारत सरकार ने कहा है कि भारत के क़रीब 256 ज़िलों में सूखे का असर है. इनमें भारत की क़रीब एक-चौथाई आबादी रहती है.

इमेज कॉपीरइट S N Parihar

गर्मी की वजह से पूर्वी राज्य ओडिशा में स्कूल बंद कर दिए गए हैं. देशभर में लू लगने से अब तक 100 से ज़्यादा लोगों की मौत हो चुकी है.

इसमें तेलंगाना और आंध्रप्रदेश शामिल हैं, जहां पिछले साल गर्मी से दो हज़ार से ज़्यादा लोगों की मौत हुई थी.

महाराष्ट्र में जल संकट के चलते एक मई के बाद आईपीएल क्रिकेट मैचों को राज्य से बाहर कराने को कहा गया है. महाराष्ट्र सरकार ने स्थानीय नगरपालिकाओं को स्विमिंग पूल के लिए पानी की सप्लाई बंद करने को कहा है.

इमेज कॉपीरइट Sameeratmaj Mishra

इस राज्य में लातूर इलाक़े में ट्रेन से पीने का पानी पहुँचाया जा रहा है.

दूसरी तरफ़, पंजाब और हरियाणा के बीच जल बँटवारे को लेकर लड़ाई चल रही है.

केंद्रीय जल आयोग के मुताबिक़ भारत के 91 फ़ीसदी जलाशयों में पिछले 10 साल में सबसे कम पानी है. इनमें महज़ 29 फ़ीसदी पानी बचा है.

वहीं वाटर एड संस्था का कहना है कि भारत में क़रीब 85 फ़ीसदी पेयजल जिन स्रोतों से मिलता है, उनका जलस्तर लगातार गिर रहा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार