नाबालिग लड़की का 'यौन शोषण', 113 पर केस

नेपाल से पुणे लाई गयी एक नाबालिग लड़की के साथ यौन शोषण के मामले में पुलिस ने 113 लोगों पर केस दर्ज किया है.

सोलह साल की पीड़िता का दावा है कि उसके साथ पिछले दो साल से लगातार दुष्कर्म हो रहा था और इसमें 100 से ज़्यादा लोग शामिल थे.

पुणे पुलिस ने इस सिलसिले में अब तक पाँच लोगों को गिरफ़्तार किया है.

गिरफ़्तार किए गए लोगों में पुणे की रहने वाली स्वीकृति खरेल के साथ साथ रमेश ठाकुला, तपेन्द्र साही, हरीश साहा और रोहित भंडारी शामिल हैं.

पुलिस के मुताबिक़ इस पीड़िता की कहानी कुछ इस तरह से है.

सोनम (बदला हुआ नाम) सिलीगुड़ी के पास खाकरमिटा (नेपाल के झापा) में अपने परिवार के साथ रहती थी. परिवार की माली हालत ठीक नहीं थी. सोनम के पिता चाय की छोटी सी दुकान चलाकर जैसे तैसे गुजारा करते थे.

पिता की दुकान पर रोहित भंडारी का काफी आना जाना था. धीरे धीरे वह सोनम के पिता का दोस्त भी बन गया.

परिवार की खराब माली हालत को देखते हुए उसने एक दिन सोनम को पुणे में किसी ब्यूटी पार्लर में अच्छी पगार पर काम दिलाने का प्रस्ताव रखा.

रोहित से पुराने रिश्ते और दोस्ती के भरोसे परिवार ने सोनम को उसके साथ पुणे भेजने का फैसला किया.

वादे के मुताबिक रोहित ने सोनम को पुणे के एक ब्यूटी पार्लर में नौकरी भी दिलाई. शुरुआत के कुछ दिन आराम से कटे और सोनम को लगने लगा था कि उसकी ज़िंदगी अब सुधर जायेगी.

इमेज कॉपीरइट REUTERS

लेकिन फिर रोहित ने स्वीकृति के साथ मिलकर सोनम को जबरन देह व्यापार में धकेला. विरोध करने पर सोनम को नशीली दवाई दी गईं और शारीरिक अत्याचार किये गए.

सोनम दो साल तक शारीरिक शोषण का शिकार होती रही. इस दौरान उसके साथ 100 से भी ज़्यादा लोगों ने यौन शोेषण किया.

पुलिस से बचने के लिए अभियुक्त सोनम को अलग अलग जगहों पर रखते थे.

सोनम ने पुलिस को बताया कि स्वीकृति और उसके साथी, उसे देह व्यापार के लिए हैदराबाद, भोपाल और अहमदाबाद भी ले जाते थे.

पिछले महीने स्वीकृति तथा उसके साथी पीड़ित सोनम को पुणे के एक फ्लैट में लाये. यहां उसके साथ मारपीट की गयी और गर्भपात भी कराया गया.

इसी फ्लैट में दिल्ली की रहने वाली मॉडल को भी रखा गया था. स्वीकृति और उसके साथियों ने मॉडल बनने आयी 26 साल की लड़की को भी जबरन देह व्यापार में धकेला था.

फिर क्या था पिछले महीने एक दिन मौका देखकर वह मॉडल सोनम के साथ दिल्ली भाग गयी और पुलिस से मामले की शिकायत की.

अब पुणे की पुलिस अन्य अभियुक्तों की तलाश में जुट गयी है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)