कितनी चमकदार है तेंदुलकर की 'दूसरी पारी?'

इमेज कॉपीरइट AP

भारतीय क्रिकेट के सबसे बड़े सितारे सचिन तेंदुलकर 43 साल के हो गए हैं.

सोशल मीडिया पर अमिताभ बच्चन से लेकर हरभजन सिंह तक उन्हें जन्मदिन पर बधाई दे रहे हैं, लेकिन सचिन ने अपने इस जन्मदिन को ख़ास तरीके से मनाया.

मुंबई के एक ग़ैर सरकारी संगठन मेक ए विश इंडिया फाउंडेशन के सौजन्य से सचिन ने बच्चों के साथ एमआईजी क्रिकेट क्लब मैदान में क्रिकेट खेल कर बिताया. उन्होंने इससे संबंधित एक वीडियो अपने आधिकारिक फ़ेसबुक पेज पर डाला है.

इस वीडियो में सचिन बच्चों को क्रिकेट का गुर सिखाते नजर आ रहे हैं. ये सचिन तेंदुलकर की दूसरी पारी की एक झलक भर है.

तेंदुलकर ने नवंबर, 2013 में अपने 200वें टेस्ट के बाद संन्यास की घोषणा की थी. अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 100 शतक और 34 हज़ार से ज़्यादा रनों का ऐसा पहाड़ बना चुके थे, जिसके आसपास कोई दूसरा बल्लेबाज़ नज़र नहीं आ रहा है.

इमेज कॉपीरइट PTI

वे जब तक क्रिकेट के मैदान पर रहे, विपक्षी टीम के गेंदबाज़ों के छक्के छुड़ाते रहे. क्रिकेट को अलविदा कहने के बाद भी वे अपने करियर की दूसरी पारी में उसी चमकदार अंदाज़ में बल्लेबाज़ी करते नज़र आ रहे हैं.

महज एक दिन पहले सचिन तेंदुलकर महाराष्ट्र में कचरा बीनने वालों पर लगी पाबंदी को हटाने के लिए बीएमसी के मेयर से मिलते नजर आए.

इससे दो दिन पहले ही, 21 अप्रैल को सचिन ने सूखे का संकट झेल रहे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस से मिलकर उन्हें मदद की पेशकश की. सूखा प्रभावित इलाकों में सचिन शीतल पेय बेचने वाली पेप्सी के साथ मिलकर पानी मुहैया कराने के उपायों में भी जुटे हैं.

इमेज कॉपीरइट AFP

इसी महीने वे मुंबई आए ब्रितानी शाही परिवार के प्रिंस विलियम और उनकी पत्नी केट के साथ ओवल मैदान, मुंबई में क्रिकेट खेलते दिखे थे.

इससे पहले 8 अप्रैल को स्किल डेवलपमेंट मिनिस्ट्री ने सचिन तेंदुलकर को स्किल इंडिया का ब्रैंड एंबैसडर बनाया. मंत्रालय 2022 तक 40.2 करोड़ युवाओं को स्किल्ड बनाना चाहता है और इस अभियान में उसे सचिन तेंदुलकर से बेहतर एंबैसडर नजर नहीं आया.

सचिन ने इस अभियान से जुड़ने के मौके पर कहा भी, “हम युवाओं का देश हैं और हममें क्षमता भी मौजूद है. बस हमें अपने पैशन के मुताबिक स्किल सीखने और उसे अवसर के रूप में बदलने की जरूरत है.”

इससे पहले सचिन तेंदुलकर स्वच्छ भारत मिशन से भी जुड़े थे, जिसकी प्रशंसा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी की थी.

इमेज कॉपीरइट Rakhee

सचिन तेंदुलकर यूनिसेफ़ के साफ सफाई वाले अभियान के भी गुडविल एंबैसेडर हैं. एक राष्ट्रीय मीडिया संस्थान के सपोर्ट माय स्कूल अभियान से भी सचिन तेंदुलकर जुड़े रहे हैं.

दरअसल ये जाहिर होता है कि सचिन तेंदुलकर क्रिकेट के मैदान से दूर होने के बाद समाज सेवा से जुड़े कामों को प्राथमिकता दे रहे हैं.

हालांकि राज्य सभा सांसद के तौर पर सचिन अभी भी कइयों की उम्मीद पर खरे नहीं उतर पाए हैं. उनकी गैर हाजिरी और सवाल नहीं उठाना मुद्दा बनता रहा है, लेकिन संसद के बाहर सचिन का प्रदर्शन बेहतर नजर आता है.

उन्होंने एक सांसद के तौर पर आंध्र प्रदेश के पुतामराजू कांद्रिका गांव को आदर्श गांव बनाने का बीड़ा भी उठाया है.

इसके अलावा सचिन मुंबई रेलवे पुलिस की यात्रियों की सुरक्षा की मुहिम का भी हिस्सा हैं. वे मुंबई में सड़क सुरक्षा के अभियानों में भी नजर आते रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट Rakhee

क्रिकेट से भी उनका नाता बना हुआ है. इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल ने भी उन्हें 2015 के वर्ल्ड कप और 2016 के वर्ल्ड टी20 टूर्नामेंट में अपना ब्रैंड एंबैसडर बनाया था.

क्रिकेट खेलने के दिनों में सचिन तेंदुलकर भारतीय विज्ञापन जगत के सबसे बड़े ब्रैंड थे. टैम एडेक्स के आंकड़ों के मुताबिक 2013 में उनके पास कम से कम 13 ब्रैंड थे.

संन्यास के तुरंत बाद ही उन्हें भारत रत्न से सम्मानित किया गया. वे इतनी कम उम्र में भारत रत्न बनने वाले पहले शख्स थे.

भारत रत्न बनने के बाद भी विज्ञापनों से उनका जुड़ाव बना हुआ है, लेकिन उन्होंने इसे बेहद सीमित कर दिया. ल्यूमिनस पॉवर, बीएमडब्ल्यू, अवीवा लाइफ़ इंश्यूरेंस और स्मार्टट्रॉन जैसे गिनती ब्रैंड के साथ सचिन का जुड़ाव हाल फिलहाल नज़र आया है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

इन सबसे अलग भी सचिन बहुत कुछ कर रहे हैं. बीते 14 अप्रैल को सचिन तेंदुलकर ने अपने जीवन पर बनने वाली फ़िल्म सचिन ए बिलियन ड्रीम का टीज़र जारी किया है.

ये फ़िल्म कब रीलीज़ होगी, इसके बारे में अभी नहीं बताया गया है कि लेकिन दो घंटे के इस फ़िल्म में सचिन तेंदुलकर ख़ुद अभिनय करते नज़र आएंगे.

जेम्स इरिस्कन के निर्देशन में आने वाली इस फ़िल्म में सचिन के पूरे क्रिकेटिंग करियर को दिखाया जाएगा. इस फ़िल्म में उनके साथ उनके बेटे अर्जुन तेंदुलकर भी नजर आएंगे.

इन सबके बीच वे इंडियन प्रीमियर लीग में मुंबई इंडियंस के मेंटॉर बने हुए हैं. बीते साल अमरीकी क्रिकेट लीग में जलवा बिखेर चुके हैं और भारतीय क्रिकेट बोर्ड की सलाहकार समिति में भी वे सौरव गांगुली और वीवीएस लक्ष्मण के साथ हैं.

इमेज कॉपीरइट AFP

ज़ाहिर है, सचिन तेंदुलकर अपने करियर की दूसरी पारी में उसी चमकदार अंदाज़ में खेल रहे हैं जितनी शानदार उनके करियर की पहली पारी थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार