कन्हैया पर जेएनयू ने लगाया दस हज़ार का जुर्माना

कन्हैया कुमार इमेज कॉपीरइट EPA

जेएनयू छात्र संघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार पर विश्वविद्यालय ने नौ फ़रवरी के कार्यक्रम के सिलसिले में 10 हज़ार रुपए का जुर्माना लगाया है.

जेएनयू प्रशासन ने सोमवार को ये फ़ैसला सुनाया.

लेकिन जेएनयू छात्र संघ की उपाध्यक्ष शैहला रशीद ने प्रशासन के फ़ैसले को नकारते हुए उसे बदले की भावना से प्रेरित फ़ैसला क़रार दिया है.

उन्होंने कहा कि जेएनयू वीसी केंद्र सरकार से सीधे निर्देश ले रहे हैं.

जेएनयू प्रशासन के फ़ैसले के अनुसार कन्हैया पर अनुशासन नियमों का उल्लंघन करने के लिए 10 हज़ार का जुर्माना लगाया गया है.

जेएनयू परिसर में नौ फ़रवरी को आयोजित एक कार्यक्रम में कथित तौर पर देशविरोधी नारे लगाए गए थे.

इस मामले में कन्हैया कुमार को गिरफ़्तार भी किया गया था. बाद में ज़मानत पर उन्हें रिहा किया गया था.

इमेज कॉपीरइट AFP

वहीं एक और छात्र उमर ख़ालिद को जेएनयू से एक सेमेस्टर के लिए निलंबित किया गया है और साथ ही उनपर 20 हज़ार रुपए का जुर्माना लगाया गया है. इस दौरान अगर उनका व्यवहार अच्छा रहा तो उन्हेंं दोबारा दाख़िला दिया जा सकता है.

अन्य छात्रों मुजीब गट्टू को दो सेमेस्टर के लिए निलंबित किया गया है.

अनिर्बान भट्टाचार्य 15 जुलाई तक निलंबित कर दिया गया है. लेकिन 25 जुलाई के बाद से अनिर्बान भट्टाचार्य पर अगले पांच साल तक जेएनयू में कोई कोर्स करने पर रोक लगा दी गई है.

इसके अलावा ऐश्वर्य, रामा नागा, अनंत और गार्गी पर भी 20-20 हज़ार का जुर्माना लगाया गया है.

इन छात्रों को नौ फ़रवरी को आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान देशद्रोही नारे लगाने के आरोप में गिरफ़्तार किया गया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार