'इससे हज़ार गुना पानी तो गोल्फ़ कोर्स में लगता है'

इमेज कॉपीरइट AFP

आईपीएल के मैचों को महाराष्ट्र से बाहर ले जाने के बॉम्बे हाई कोर्ट के फ़ैसले को सुप्रीम कोर्ट ने सही ठहराया है.

ये मामला महाराष्ट्र में सूखे की स्थिति और स्टेडियम के रखरखाव में इस्तेमाल होने वाले पानी के बारे में उठा था.

इस पर आईपीएल कमिश्नर राजीव शुक्ला ने कहा है कि 'गोल्फ़ कोर्स में तो इससे हज़ार गुना पानी इस्तेमाल होता है.'

राजीव शुक्ला ने बीबीसी से बातचीत में कहा, "बिल्डर्स जो इमारतें बना रहे हैं, उनमें भी पानी ख़र्च हो रहा है, इसलिए संवेदनशीलता केवल आईपीएल मैंचों तक ही सीमित नहीं होनी चाहिए."

उनका कहना था, "संवेदनशीलता हर जगह होनी चाहिए, अगर आईपीएल को शिफ़्ट कराने के बाद सब चुपचाप बैठ जाएंगे, तो इससे महाराष्ट्र में सूखे की समस्या हल नहीं होगी. वो एक बड़ी समस्या है. सुप्रीम कोर्ट का फ़ैसला हमारे लिए कोई झटका नहीं है, क्योंकि उन्होंने हाई कोर्ट के फ़ैसले को ही लागू रखा है."

राजीव शुक्ला ने कहा, "हम पहले से ही मैंचों को शिफ़्ट करने की तैयारी कर रहे थे. हम सुप्रीम कोर्ट नहीं गए थे... मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन और महाराष्ट्र क्रिकेट एसोसिएशन गईं थीं."

इमेज कॉपीरइट PTI

उनके मुताबिक़ "हम तो वैसे भी वो पानी इस्तेमाल नहीं कर रहे थे, जो किसानों के लिए होता है, फिर भी अगर लगता है कि आईपीएल के मैचों को शिफ़्ट करने से महाराष्ट्र में सूखे की समस्या का समाधान हो जाएगा, तो हमें कोई एतराज़ नहीं है. 6 मैच से अगर इतना बड़ा अकाल, इतना बड़ा सूखा, इतनी बड़ी समस्या ठीक हो जाए तो बहुत अच्छी बात है... हम तो और भी सहयोग करेंगे."

राजीव शुक्ला ने बताया कि आगे के लिए पुणे की टीम जो मैच होस्ट करने वाली थी उसके लिए उसने विशाखापट्टनम को और मुंबई की टीम ने जयपुर को चुना है.

उन्होंने कहा कि जयपुर में भी एक पीआईएल हो गई है, जिसकी सुनवाई तीन तारीख़ को है. इसीलिए आईपीएल गवर्निंग काउंसिल की मीटिंग बुलाई गई है.

(बीबीसी संवाददाता मोहनलाल शर्मा के साथ बातचीत पर आधारित)

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार