'सर्जरी से रातों रात लिंग परिवर्तन नहीं होता'

इमेज कॉपीरइट Vidya Rajput

छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट ने 'किन्नर से महिला बनने की सर्जरी करवा चुके' एक शख़्स के 'बलात्कार' पर सुनवाई करते हुए कहा है कि ऑपरेशन के बाद भी लिंग परिवर्तन में समय लगता है और यह एक जटिल प्रक्रिया है.

अदालत ने रेप के अभियुक्त युवक की ज़मानत याचिका को मंजूरी दे दी है.

इमेज कॉपीरइट vidya rajput

पुलिस ने भारतीय दंड संहिता की धारा 376 के तहत बलात्कार समेत दूसरी धाराओं में मामला दर्ज करते हुये युवक को गिरफ्तार किया था.

ज़मानत याचिका पर सुनवाई करते हुये जस्टिस संजय के अग्रवाल की पीठ ने कहा कि धारा 376 के तहत दर्ज दुष्कर्म के मामले में एक पुरुष और एक महिला का होना आवश्यक है.

अदालत का कहना था कि केवल ऑपरेशन करा लेने भर से लिंग परिवर्तन नहीं हो जाता और महिलाओं के अंग विकसित होने की प्रक्रिया लंबी है.

इमेज कॉपीरइट vidya rajput

अदालत ने सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसलों का उदाहरण देते हुये कहा कि लिंग परिवर्तन से संबंधित प्रक्रिया बेहद जटिल, पीड़ादायक और लंबी है.

राजनांदगांव ज़िले में एक ट्रांसजेंडर ने 2013 में लिंग परिवर्तन के लिए सर्जरी करवाई थी.

इमेज कॉपीरइट vidya rajput

उसने पिछले साल 30 नवंबर को पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई कि युवक शिवम देवांगन ने विवाह का झांसा देकर उसके साथ शारीरिक संबंध बनाये और अब वह शादी से मुकर गया है.

पुलिस ने 19 साल के शिवम देवांगन को गिरफ़्तार कर लिया था.

युवक के वकील एचएस अहलुवालिया ने कहा, “ट्रांसजेंडर और उनके लिंग परिवर्तन से जुड़े मामलों में यह एक महत्वपूर्ण फ़ैसला है."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार