यूपी में 'मायाजाल' क्यों बना है पहेली?

  • 8 मई 2016
इमेज कॉपीरइट PTI

कई लोगों की तरह क्या आपको भी लगता है कि बहुजन समाज पार्टी नेता मायावती किसी पहेली से कम नहीं हैं?

चार बार उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री रह चुकीं मायावती की शख़्सियत उतनी की गहरी है जितनी अपने निष्ठावान वोटरों पर उनकी पकड़. लेकिन खुद मायावती ने बहुत पहले से तय कर रखा है कि उनकी निजी और राजनीतिक ज़िन्दगी के बारे में जितना कम कहा जाए उतना बेहतर. ज़ाहिर है, मायावती में मेरी दिलचस्पी उत्तर प्रदेश में वर्ष 2017 में होने वाले राज्य विधानसभा चुनावों के कारण दोबारा बढ़ी है और उसकी एक वजह ये भी है कि कई लोग मायावती को एक प्रबल दावेदार भी बता रहे हैं. पिछले विधानसभा चुनावों में अखिलेश यादव की युवा अपील और सपा की साइकिल से रेस हारने वाली मायावती ने आगामी चुनावों के लिए कुछ ख़ास योजनाएं भी बना रखी हैं.

अपने घर से बसपा ऑफ़िस और फिर घर पर इन दिनों किसके-किसके साथ लंबी बैठकें कर रहीं हैं मायावती?

इमेज कॉपीरइट AFP

राजनीति छोड़िए, मायावती के काम करने का अंदाज़ भी बेहद दिलचस्प है जिसे हम बीबीसी हिंदी पर कल यानी सोमवार से शुरू होने वाली एक विशेष सिरीज़ के ज़रिए आप तक पहुंचाएंगे. इसमें आप मायावती के बारे में कभी न सुनी हुई कुछ बातों को जानेंगे और साथ ही छोटे और सरल वीडियोज़ भी देख सकेंगे ग्राउंड ज़ीरो से.

हमारी कोशिश रहेगी कि बीबीसी हिंदी के ज़रिए हम आपको बता सकें कि उत्तर प्रदेश में दलितों की मसीहा कही जाने वाली मायावती इन दिनों किस मास्टरप्लान को अंजाम देने में जुटी हैं.

हम इस बात की भी पड़ताल करेंगे कि आख़िर मुलायम सिंह यादव और मायावती के काम करने के अंदाज़ में क्या फ़र्क़ है और आम जनता इन दिनों इसे कैसे देख रही है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार