उत्तराखंड: सियासी उबाल, रावत पर नया 'स्टिंग'

हरीश रावत इमेज कॉपीरइट Shiv joshi

उत्तराखंड में सियासी उबाल अपने चरम पर है. विश्वास मत परीक्षण से दो दिन पहले एक और कथित स्टिंग का वीडियो सामने आया है. कथित स्टिंग में एक कांग्रेस विधायक की बातचीत दिखाई गई है.

कथित स्टिंग में हरीश रावत पर विधायकों को ख़र्चा पानी के नाम पर 25-25 लाख रुपए बांटने का आरोप लगाया गया है.

सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर मंगलवार को पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत को विधानसभा में बहुमत साबित करना है. दोनों पार्टियों कांग्रेस और भाजपा ने इस सिलसिले में व्हिप भी जारी किए हैं.

इमेज कॉपीरइट SHIV JOSHI

इस बीच, पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने केंद्रीय जांच एजेंसियों के ज़रिए विधायकों को प्रताड़ित किए जाने के गंभीर आरोप लगाए हैं.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुतबिक रावत ने कहा कि मंगलवार को विधानसभा में होने वाले विश्वास मत के पहले उनके विधायकों को धमकाया जा रहा है और उनके फ़ोन टैप किए जा रहे हैं.

रावत ने रविवार को देहरादून में संवाददाताओं से कहा, "हमारे विधायकों और नेताओं को धमकी भरे संदेश भेजे जा रहे हैं कभी रिश्तेदार बनकर, कभी शुभचिंतक, तो कभी जान पहचान वाला बनकर."

रावत ने आरोप लगाया कि ऊंचे पदों पर तैनात 2 नौकरशाह हमारे विधायकों को ब्लैकमेल कर रहे हैं ताकि हम बहुमत साबित नहीं कर सकें.

उन्होंने आरोप लगाया, "मुझे भी निगरानी में रखा जा रहा है, मानों मैं कोई देशद्रोही हूं."

वीडियो के बारे में पूछे जाने पर रावत ने कहा कि फिलहाल उनके पास इस बारे में कोई जानकारी नहीं है.

रावत ने इल्ज़ाम लगाए कि उनके और उनके रिश्तेदारों के फ़ोन टैप किए जा रहे हैं.

उन्होेंने कहा, "केंद्रीय जांच एजेंसियां कांग्रेस के लोगों को अलग-अलग तरीकों से परेशान कर रही हैं."

रावत ने कहा, "केंद्रीय एजेंसियों का खुलकर दुरुपयोग हो रहा है. केवल मेरे विधायक ही नहीं, बल्कि नेताओं को भी धमकाया जा रहा है."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार