जब माँ ने किया था मोदी का विजय तिलक

साल 2014 के लोकसभा चुनाव में मिली ऐतिहासिक जीत के बाद उन्हें तिलक लगातीं उनकी मां. इमेज कॉपीरइट narendramodi.in

साल 2014 में हुए लोकसभा के चुनाव के नतीजे आज ही के दिन यानी 16 मई को आए थे.

इन चुनावों में भारतीय जनता पार्टी ने नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में ऐतिहासिक जीत दर्ज की थी, तो कांग्रेस को अबतक की सबसे बड़ी हार का सामना करना पड़ा था.

कुल 428 सीटों पर चुनाव लड़ने वाली भाजपा को 282 सीटों पर विजय मिली थी. उसे 31.34 फ़ीसद वैध मत मिले थे.

वहीं 464 सीटों पर चुनाव लड़ने वाली कांग्रेस 44 सीटों पर सिमट गई थी.

इमेज कॉपीरइट SHAILENDRA KUMAR

भाजपा को सबसे बड़ी सफलता उत्तर प्रदेश में मिली थी, जहां उसनें 80 में से 71 सीटों पर जीत मिली थी.

इसके बाद गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने 26 मई को प्रधानमंत्री पद की शपथ ली थी.

जब नतीजे आ रहे थे तो नरेंद्र मोदी अहमदाबाद में अपनी माँ से मिलने गए थे. मां से मिलने से पहले उन्होंने ट्वीट किया, ''भारत की विजय. अच्छे दिन आने वाले हैं.''

नरेंद्र मोदी की मां ने उनके माथे पर तिलक लगाकर आशीर्वाद दिया था. उनके आसपास कई बच्चे खड़े थे.

इमेज कॉपीरइट EPA

मोदी ने माँ के बग़ल में बैठकर कुछ देर उनसे बातचीत की थी.

इसके बाद वह माँ के पाँव छूकर वापस निकल गए थे. उस समय उनकी माँ के घर के बाहर भाजपा कार्यकर्ताओं का हुजूम लगा हुआ था.

मोदी के घर से निकलते ही कार्यकर्ताओं और मीडिया ने उन्हें घेर लिया. लेकिन मोदी सिर्फ़ हाथ जोड़ते हुए आगे बढ़कर कार में जा बैठे.

चुनाव परिणामों और रुझानों के साथ-साथ राजनीतिक प्रतिक्रियाओं का सिलसिला भी शुरू हो गया था.

इमेज कॉपीरइट PTI

भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी ने कहा था, ''ये मतदान भ्रष्टाचार, कुशासन और परिवारवाद के ख़िलाफ़ है. हिंदुस्तान के इतिहास में ऐसा चुनाव कभी नहीं हुआ, सभी दलों को सभी नेताओं को इससे सबक़ लेना चाहिए.''

वहीं कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ता संजय झा ने बीबीसी हिंदी से ख़ास बातचीत में माना था कि "पार्टी चुनाव प्रचार ठीक से नहीं कर पाई इसलिए ऐसा परिणाम सामने आया है."

भारतीय जनता पार्टी के तत्कालीन अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने ट्विटर पर बताया था कि उन्होंने फ़ोन पर नरेंद्र मोदी को बधाई दी है और इसे 'लैंडस्लाइड जीत' कहा है.

इमेज कॉपीरइट AFP

भाजपा के ही अन्य नेता प्रकाश जावड़ेकर ने कहा था, "हम एग्ज़िट पोल से बेहतर प्रदर्शन करने वाले हैं, 300 से ज़्यादा सीटें हासिल करने वाले हैं, देश में नरेंद्र मोदी की आँधी चल रही है."

आम आदमी पार्टी के नेता योगेंद्र यादव ने बीबीसी से कहा था, "आम आदमी पार्टी की चिंता सीटें जीतने की नहीं है लेकिन हमारी पार्टी इस लोकसभा चुनाव में एक राष्ट्रीय पार्टी के रूप में स्थापित हुई है जो बड़ी उपलब्धि है."

वहीं असम के मुख्यमंत्री तरुण गोगोई ने राज्य में कांग्रेस के ख़राब प्रदर्शन की ज़िम्मेदारी लेते हुए अपने पद से इस्तीफ़ा देने की पेशकश कर दी थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार