गोधरा कांड का मुख्य अभियुक्त गिरफ़्तार

इमेज कॉपीरइट AP

गुजरात पुलिस ने गोधरा में 27 फरवरी 2002 को साबरमती एक्सप्रेस में आग लगने की घटना के प्रमुख साज़िशकर्ता को गिरफ़्तार करने का दावा किया है.

गुजरात पुलिस के एटीएस के प्रमुख हिमांशु शुक्ल ने स्थानीय पत्रकार प्रशांत दयाल को बताया, "फारूख़ भाना गोधरा कांड के मुख्य अभियुक्त हैं. ट्रेन में आग लगाने के लिए फ़ारूख़ ने पेट्रोल बम का इंतज़ाम किया था और घटना के बाद वो फ़रार हो गया था."

साबरमती एक्सप्रेस के एस-6 कोच आग लगने से 58 लोग मारे गए थे, जिनमें से कई अयोध्या से कार सेवा कर लौट रहे हिंदू कार्यकर्ता थे. इसके बाद गुजरात में मुस्लिम विरोधी दंगे भड़के थे और सरकारी आंकड़ों के मुताबिक कम से कम एक हज़ार लोग मारे गए थे जिनमें से अधिकतर मुसलमान थे.

इमेज कॉपीरइट Reuters

पुलिस के अनुसार, "पहले ये जानकारी मिली थी कि फ़ारूख़ पाकिस्तान भाग गया है लेकिन वो हाल में गुजरात लौट आया था. इसके बाद वो कलोल में छिपा हुआ था. जैसे ही पुलिस को जानकारी मिली, उन्हें गिरफ़्तार कर लिया गया."

इस मामले में 97 अभियुक्तों की गिरफ़्तारी हुई थी और 2011 में गोधरा की एक अदालत ने कुल 31 अभियुक्तों को दोषी पाया था.

ग्यारह अभियुक्तों को फांसी की सज़ा सुनाई गई थी जबकि 20 को आजीवन कारावास की सज़ा सुनाई गई थी.

अभियुक्तों में से 64 को निर्दोष पाया गया था. फ़ारूख़ इस मामले में आख़िरी अभियुक्त थे जो गिरफ़्तार नहीं हुए थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार