जयललिता ने पूरे किए पांच चुनावी वादे

  • 24 मई 2016
जयललिता

देश की ताक़तवर महिला राजनीतिज्ञों में से एक जयराम जयललिता ने लगातार दूसरी बार तमिलनाडु की मुख्यमंत्री पद की शपथ लेकर एक नया रिकॉर्ड बनाया है.

उन्होंने छठी बार मुख्यमंत्री पद संभाला है. शपथ ग्रहण के तुरंत बाद उन्होंने चुनाव प्रचार के दौरान किए गए अपने पांच वादों को पूरा कर दिया है और इनपर तुरंत अमल का आदेश जारी किया है.

जयललिता द्वारा दिए गए पांच प्रमुख आदेश-

इमेज कॉपीरइट AP

1-सरकारी स्कूलों में बच्चों को अब मुफ़्त नाश्ता मुहैया कराया जाएगा.

2-राज्य में शराब की 500 सरकारी दुकानों को बंद करने का आदेश. अन्य दुकानों के खुले रहने के समय में भी कटौती कर दी गई है. अब ये दुकानें दोपहर 12 बजे से रात 10 बजे तक ही खुली रहेंगी.

3-विवाह में मंगलसूत्र के लिए आठ ग्राम सोना देने का आदेश.

4-किसानों की कर्ज माफी.

5- बुनकरों के लिए 750 यूनिट बिजली मुफ़्त की जाएगी.

इमेज कॉपीरइट AFP

जयललिता ने पिछले कार्यकाल के दौरान सस्ते भोजन वाली अम्मा कैंटीन, अम्मा पानी, अम्मा फार्मेसी, अम्मा सीमेंट जैसी कई योजनाएं चलाकर मतदाताओं के बीच अपनी पैठ बनाई थी.

पिछले तीन दशकों से तमिलनाडु में मतदाता, बारी बारी से डीएमके या एआईडीएमके को ही चुनते आ रहे हैं.

सरकारी स्कूलों में फ्री मिड डे मील उपलब्ध कराने के मामले में यह राज्य अग्रणी रहा है. इसकी शुरुआत 1960 के दशक में कांग्रेसी नेता के कामराज ने की थी लेकिन जल्द ही द्रविड़ पार्टियों ने इसे लोकप्रिय बना दिया.

एक वरिष्ठ राजनीतिक विश्लेषक मलान के मुताबिक, राज्य सरकार पहले ही 9000 करोड़ रुपये के घाटे में चल रही है, ऊपर से किसानों का कुल कर्ज 5000 करोड़ रुपये के आस पास बैठेगा.

शराब बिक्री से तमिलनाडु को 30,000 करोड़ रुपये की आय होती है, जिसका एक बड़ा हिस्सा अम्मा ब्रांड के बैनर तले चल रहे तमाम कल्याणकारी कार्यों पर खर्च होता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार