तालिबान चीफ़ की मौत मील का पत्थर: ओबामा

  • 23 मई 2016
इमेज कॉपीरइट AFP Getty

अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा है कि ड्रोन हमले में तालिबान नेता मुल्ला अख़्तर मंसूर की मौत अफ़ग़ानिस्तान में शांति स्थापित करने की कोशिश में एक 'मील का पत्थर' है.

उन्होंने कहा कि यह अमरीका विरोधी चरमपंथियों के लिए स्पष्ट संदेश है कि 'हम अपने लोगों की रक्षा करेंगे.'

वियतनाम दौरे पर गए ओबामा ने कहा, "अब इस बात की पुष्टि हो गई है कि उसकी मौत हो चुकी है."

ओबामा ने कहा, "वो तालिबान का प्रमुख था और ख़ास तौर से अफ़ग़ानिस्तान में अमरीकी सैनिकों को निशाना बना रहा था."

पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रांत में हुए एक ड्रोन हमले में तालिबान नेता की मौत हुई.

हालांकि पाकिस्तान ने इस हमले को अपनी संप्रभुता का उल्लंघन बताया है.

लेकिन अमरीका अधिकारियों का कहना है कि ये हमला राष्ट्रपति ओबामा के आदेश पर हुआ और हमले के पहले और बाद में उन्हें इसकी जानकारी दी गई थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)