'आत्मरक्षा कैंप': बजरंग दल के ख़िलाफ़ केस दर्ज

बजरंग दल इमेज कॉपीरइट AP
Image caption फ़ाइल तस्वीर

उत्तर प्रदेश पुलिस ने अयोध्या में 'आत्मरक्षा कैंप' आयोजित करने पर बजरंग दल के ख़िलाफ़ एफ़आईआर दर्ज की है.

फ़ैज़ाबाद के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मोहित गुप्ता ने बीबीसी को बताया, "भारतीय दंड संहिता की धारा 153 ए के तहत बजरंग दल के ख़िलाफ़ एफ़आईआर दर्ज की गई है."

बजरंग दल पर धार्मिक आधार पर नफ़रत फैलाने का मामला दर्ज किया गया है.

बजरंग दल ने अयोध्या के कारसेवकपुरम में एक कैंप आयोजित किया था जिसमें उनके अनुसार नौजवानों को 'आत्मरक्षा का प्रशिक्षण' दिया गया था.

जब इस कैंप का वीडियो भारतीय मीडिया और सोशल मीडिया पर प्रसारित हुआ, तो विवाद खड़ा हो गया.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption फ़ाइल फ़ोटो

वीडियो में बजरंग दल के सदस्य हथियारों और भगवा झंडे के साथ हथियार चलाने और दुश्मन को मार गिराने का अभ्यास करते दिखाई देते हैं.

इस वीडियो में जिन लोगों को दुश्मन के तौर पर दिखाया गया है उन्होंने नमाज़ के दौरान पहनी जाने वाली टोपी पहनी हुई थी और उनके चेहरे पर नकली दाढ़ी भी दिखाई देती है.

इससे पहले उत्तर प्रदेश के गवर्नर राम नाइक ने कहा था कि 'आत्मरक्षा कैंप' आयोजित किए जाने में कोई दिक़्क़त नहीं है.

राम नाइक ने कहा था, "जो लोग अपनी रक्षा नहीं कर सकते हैं वो अंततः राष्ट्र की रक्षा भी नहीं कर सकते हैं. यदि कुछ नौजवान आत्मरक्षा के लिए हथियार चलाने का प्रशिक्षण ले रहे हैं तो इसमें कुछ ग़लत नहीं है."

कांग्रेस ने इन गतिविधियों और इस टिप्पणी की कड़ी आलोचना की थी.

वहीं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने दो दिन पहले एक राजनीतिक सभा में कहा था कि प्रदेश का माहौल ख़राब करने की साज़िश की जा रही है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)