यूरेनियम खदान हादसे में तीन की मौत

  • 29 मई 2016
यूरेनियम कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड इमेज कॉपीरइट Gaurav

झारखंड के जमशेदपुर स्थित यूरेनियम कॉरपोरेशन ऑफ़ इंडिया लिमिटेड (यूसीआईएल) में शनिवार को हुए एक हादसे में मरनेवालों की संख्या तीन हो गई है.

रविवार की सुबह, क़रीब बारह घंटे की मशक्कत के बाद ज़मीन के अंदर दबे मैनेजर स्तर के एक अधिकारी को निकाला जा सका, जिनकी मौत हो चुकी है. इस बीच हादसे की जांच शुरू हो गई है.

जमशेदपुर के अनुमंडल अधिकारी आलोक कुमार ने बताया कि देर रात तक बचाव कार्य जारी था, हालाँकि रात में 'स्लज' (कीचड़) के अधिक बहाव होने की वजह से इस काम में परेशानी होती रही.

इमेज कॉपीरइट Gaurav

इनके अलावा बचाव कार्य में निकाले गए 9 लोगों को टाटा मुख्य अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है.

यह हादसा सुंदरनगर थाना क्षेत्र के तुरामडीह साइट पर हुआ है, जो राज्य की राजधानी राँची से क़रीब 200 किलोमीटर दूर है.

घटना स्थल का जायज़ा लेकर लौटे अधिकारियों के मुताबिक़ इस हादसे में 12 लोग ज़मीन के अंदर उस वक़्त दब गए जब वे 'स्लज' हटाने के लिए क़रीब 200 मीटर नीचे खदान में उतरे थे.

इमेज कॉपीरइट Gaurav

यूसीआईएल के जानकारों के हवाले से उनका कहना था कि हो सकता है यह हादसा 'स्लज' के अत्यधिक बहाव के कारण हुआ हो.

इस बीच धनबाद से डायरेक्टर जनरल ऑफ़ माइन्स सेफ़्टी के अधिकारी हालात का जायज़ा लेने घटनास्थल पर पहुंच गए हैं.

जमशेदपुर के ग्रामीण एसपी मोहम्मद अर्शी भी घटनास्थल पर पहुंचे हैं. उन्होंने बताया कि एहतियातन वहां पर पुलिस बलों की तैनाती कर दी गई है. जहां तक बचाव कार्य का मामला है, उसमें तकनीकी वजहों से यूसीआईल की टीम जुटी है.

इमेज कॉपीरइट NIRAJ SINHA

इधर राज्य के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने इस घटना पर दुःख जताते हुए अस्पताल प्रबंधन से घायलों के उचित इलाज की व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए कहा है. मुख्यमंत्री ने कहा है कि घायलों के परिजनों को उचित मुआवज़ा मिलेगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार