'दिल्ली को 5 मिनट में निशाना बना सकता है पाक'

इमेज कॉपीरइट AP

परमाणु हथियारों से लैस पाकिस्तान, दिल्ली को पांच मिनट में निशाना बना सकता है.

पाकिस्तान के परमाणु कार्यक्रम के जनक माने जाने वाले डॉ. अब्दुल क़दीर ख़ान ने पाकिस्तान के पहले परमाणु परीक्षण की 18वीं सालगिरह पर ये बात कही है.

ख़ान ने कहा कि पाकिस्तान 80 के दशक में ही परमाणु शक्ति बन गया होता, लेकिन तत्कालीन पाकिस्तानी राष्ट्रपति जनरल ज़िया उल हक़ ने इस क़दम का विरोध किया था.

अब्दुल क़दीर ख़ान का कहना है, "हमनें 1984 में ही परमाणु परीक्षण की योजना बनाई थी, हमारे पास उस वक़्त ही यह क्षमता थी, लेकिन राष्ट्रपति ज़िया उल हक़ ने इसका विरोध कर दिया था."

इमेज कॉपीरइट AP

2004 मेें अब्दुल क़़दीर ख़ान ने इस बात को स्वीकार किया था कि उन्होंने परमाणु तकनीक का प्रसार किया था. इसके बाद उन्हें घर में नज़रबंद करके रखा गया था.

2009 में कोर्ट ने उनकी नज़रबंदी खत्म की थी और वे आज़ाद हो पाए थे.

अब्दुल क़ादिर ख़ान का कहना है, "पाकिस्तान मेरे बगैर दुनिया का पहला परमाणु शक्ति वाला मुस्लिम देश नहीं हो सकता था".

भारत में अब्दुल क़ादिर ख़ान के इस बयान पर तीखी प्रतिक्रिया हो रही है.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार