पहले नेहरू, अब मोदी पर पोस्ट लाइक से फंसे

  • 31 मई 2016
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी इमेज कॉपीरइट AFP

पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू की तारीफ़ पर तबादले के बाद मध्यप्रदेश के आईएएस और बड़वानी के कलेक्टर रहे अजय गंगवार को फ़ेसबुक पर प्रधानमंत्री मोदी पर पोस्ट को लाइक करने के लिये नोटिस जारी किया गया है.

अजय गंगवार इस बार प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के ख़िलाफ़ फ़ेसबुक पोस्ट लाइक करने पर मुसीबत में पड़ गए हैं.

30 मई को जारी नोटिस में कहा गया है कि उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विरुद्ध जनक्रांति की बात करने वाले एक पोस्ट पर कमेंट किया है जो सर्विस कोड कंडक्ट का उल्लंघन है.

ये कमेंट 23 जनवरी, 2015 का है, इसमें नरेंद्र मोदी की नीतियों के ख़िलाफ़ एक लेख लिखा था जिसे लाइक करते हुए गंगवार ने कमेंट किया था, ''मोदी के ख़िलाफ़ लोगों की क्रांति होनी चाहिए”. इसके चंद महीने बाद ही उन्हें बड़वानी जिले के कलेक्टर की कमान सौंपी गई थी.

इमेज कॉपीरइट FACEBOOK

इस फ़ैसले से नाखुश गंगवार एक हफ़्ते की छुट्टी पर चले गये हैं. उन्होंने किसी भी तरह से सर्विस नियम का उल्लंघन से इनकार किया है.

उन्होंने कहा,“ नोटिस का जवाब दिया जाएगा. मैंने सरकार के ख़िलाफ़ कुछ भी नहीं किया है.”

अजय गंगवार 25 मई को उस वक़्त चर्चा में आए जब उन्होंने नेहरू की तारीफ़ फ़ेसबुक पर कर दी. विवाद बढ़ता देख उन्होंने पोस्ट को डिलीट कर दिया.

अजय गंगवार को 26 मई को सरकार ने बड़वानी कलेक्टर के पद से हटा कर सचिवालय में उप सचिव बना दिया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार