51 डिग्री तापमान में कैसी गुजरी ज़िंदगी

फलौदी, राजस्थान इमेज कॉपीरइट Aarju Alam

राजस्थान के जोधपुर ज़िले की एक छोटी सी जगह फलौदी हाल ही में सुर्खियों में रहा है.

19 मई को यहां का तापमान रिकॉर्ड 51 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ था. ये भारत में अब तक का दर्ज किया गया सबसे ज़्यादा तापमान है.

इससे पिछला रिकॉर्ड 60 साल पहले 50.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था.

इमेज कॉपीरइट Aarju Alam

वैसे यहां पर साल के छह महीने से भी ज़्यादा दिनों तक तापमान 40 डिग्री के ऊपर ही रहता है.

राजस्थान के दूसरे हिस्सों की तरह यहां भी पीने की साफ पानी की क़िल्लत है.

इमेज कॉपीरइट Aarju Alam

लोगों में इस बात को लेकर रोष है कि इंदिरा गांधी नहर के इतने नज़दीक होने के बावजूद उन्हें मीठे पानी की सप्लाई नहीं मिल पाती है.

खारे पानी के ज़्यादा होने की वजह से 20 किलोमीटर दूर रिन नामक जगह में नमक की खेती होती है. यहाँ की नमक की सप्लाई टाटा को भी होती है.

इमेज कॉपीरइट Aarju Alam

यहां के नमक की खपत पंजाब, गुजरात, महाराष्ट्र और मध्यप्रदेश तक होती है.

यहां पत्थरों की कटाई का काम भी होता है. यहां के लोग कम पानी और चिलचिलाती गर्मी के साथ ख़ुद को ढाल चुके हैं.

इमेज कॉपीरइट Aarju Alam

यहां की औरतों को जला देने वाली तपिश में भी पानी के लिए रोज़ाना कई किलोमीटर का सफ़र तय करना पड़ता है.

19 मई के दिन यहां पानी के सारे स्टॉक खत्म हो गए थे. यहां ज्यादातर लोगों के यहां फ्रिज नहीं है, इसलिए पानी को घड़े में ही ठंडा करते हैं.

इमेज कॉपीरइट Aarju Alam

मज़दूरी करने वाले करीम कहते हैं कि लोग गर्मियों के दिनों में ही काम करवाना पसंद करते हैं क्योंकि गर्मी में दिन बड़े होते हैं और एक दिहाड़ी के पैसे में सवा दिहाड़ी का काम हो जाता है. इसीलिए भीषण गर्मियों में तपते सूरज में उन्हें काम करने की आदत हो गई है. 19 मई वाले दिन को गर्मी की बढ़ती तपिश देख मालिक ने दोपहर में काम रुकवा दिया था.

इमेज कॉपीरइट Aarju Alam

राजस्थान के छोटे शहरों में औरतों को घर से बाहर निकलने की कम ही आज़ादी मिलती है. गर्मी के दिनों में वे घर के दरवाजे और खिड़कियों पर ही दिन गुज़ारती हैं.

त्रिलोक चंद गहलोत कहते हैं कि बढ़ती हुई गर्मी के कारण वे 19 मई को अपने नमक के खद्दान में जाने की हिम्मत नहीं कर पाए थे लेकिन नमक मजदूरों को तो वहां जा कर काम करना ही पड़ता है चाहे तापमान 40 हो या 50 या फिर 51 ही क्यों ना हो.

इमेज कॉपीरइट Manoj Kumar

भारतीय मौसम विभाग ने 19 मई को यहां का तापमान 51 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया था लेकिन स्थानीय लोगों का दावा है कि उन्होंने अपने निजी यंत्र में लगभग 54 डिग्री सेल्सियस तापमान रिकार्ड किया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार