डिक्टेटर हैं अनुराग कश्यप: पहलाज निहलानी

सेंसर बोर्ड के अध्यक्ष पहलाज़ निहलानी

सेंसर बोर्ड के अध्यक्ष पहलाज निहलानी ने कहा है कि फ़िल्म 'उड़ता पंजाब' पर लिए गए फ़ैसले का पंजाब चुनाव या राजनीति से कोई संबंध नहीं है.

'ऊपर वालों को ख़ुश करने में लगे हैं निहलानी'

पहलाज निहलानी ने एनडीटीवी से कहा कि इस मुद्दे को लेकर उन पर कोई राजनीतिक दबाव नहीं था.

उन्होंने कहा, "केंद्र ने कभी भी सेंसर बोर्ड पर दबाव नहीं दिया है. इस फ़ैसले पर कोई राजनीतिक असर नहीं था."

पहलाज निहलानी ने फिल्म के निर्माता अनुराग कश्यप को 'डिक्टेटर' (तानाशाह) बताते हुए कहा कि 'उड़ता पंजाब' में 89 सीन काटे जाने के फैसले का पंजाब चुनाव से कोई संबंध नहीं है.

उन्होंने अनुराग कश्यप के आरोपों को बेबुनियाद बताया.

पंजाब में नशे की समस्या पर आधारित फ़िल्म 'उड़ता पंजाब' पर सेंसर बोर्ड की आपत्तियों और कट के निर्देश को अनुराग कश्यप 'बेवजह' बता रहे हैं.

उनका कहना है कि पहलाज निहलानी नियम-क़ानून को दरकिनार करके सेंसर बोर्ड को चला रहे हैं.

उनका ये भी कहना है कि निहलानी अपनी नैतिकता पूरी दुनिया के सिनेमा पर थोपना चाहते हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार