'मोदी शुरू करें राजीव गांधी आत्महत्या योजना'

  • 9 जून 2016
नरेंद्र मोदी इमेज कॉपीरइट AP

'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को राजीव गांधी आत्महत्या योजना शुरू करनी चाहिए ताक़ि छद्म धर्मनिरपेक्ष लोग आत्महत्या कर सकें.'

ये बात मध्य प्रदेश की एक सरकारी अधिकारी ने अपने फ़ेसबुक पोस्ट में कही है, जिसके बाद विवाद हो गया है.

रतलाम ज़िले की रावटी की तहसीलदार अमिता सिंह तोमर ने अपने पोस्ट में कहा, "प्रधानमंत्री अफगानिस्तान गए. वहां मुसलमानों ने भारत के झंडे लेकर सड़क पर ‘वंदे मातरम्’ और ‘भारत माता की जय’ के नारे लगाए. प्रधानमंत्री से अनुरोध है कि वे 'राजीव गांधी आत्महत्या योजना' शुरू करें ताकि सेक्युलर और कांग्रेसी विचार वाले ऐसी खबर सुनकर आत्महत्या कर सकें."

हालांकि विवाद के बाद अमिता सिंह ने अपनी फ़ेसबुक पोस्ट हटा दी.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक़ रतलाम के ज़िलाधिकारी ने अमिता सिंह को कारण बताओ नोटिस भी दिया है.

बाद में पत्रकारों से बात करते हुए अमिता सिंह ने कहा कि उन्हें ये संदेश वॉट्स ऐप पर मिला था जिसे उन्होंने पोस्ट कर दिया.

अमिता सिंह ने अपनी पोस्ट पर माफ़ी मांगते हुए ये भी कहा कि उनका इरादा किसी की भावनाएं आहत करने का नहीं था.

इमेज कॉपीरइट Akhilendu Arjeria

पूर्व आईएएस अधिकारी अखिलेंदू अर्जेरिया ने अमिता सिंह की पोस्ट के जवाब में लिखा, "गंगवार की पोस्ट को, खूब पढ़े शिवराज; अमिता सिंह को भी पढ़ें, किया पोस्ट जो आज! किया पोस्ट जो आज , योजना नमो बनाएँ; करें खुदकुशी लोग, सेकुलर जो कहलायें! कहें "अखिल" कविराय, काम इतना बस कीजे; ये अधिकारी सही, प्रमोशन इनको दीजे!"

अखिलेंदू के इस पोस्ट को कांग्रेस महासचिव और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने भी साझा किया है.

हाल ही में मध्य प्रदेश के बड़वानी ज़िले के कलेक्टर अजय गंगवार को फ़ेसबुक पर मोदी की आलोचना करने के बाद पद से हटा दिया गया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आपयहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार