'उड़ता पंजाब' पर फैसला सोमवार को होगा

अनुराग कश्यप इमेज कॉपीरइट AP

निर्माता अनुराग कश्यप की विवादित फ़िल्म 'उड़ता पंजाब' पर शुक्रवार को बॉम्बे हाई कोर्ट में बहस पूरी हो गई है. कोर्ट इस पर अपना फैसला सोमवार को सुना सकता है.

शुक्रवार को सुनवाई के दौरान निर्माता इस फ़िल्म के कुछ सीन हटाने पर राज़ी हो गए हैं.

सुनवाई में कोर्ट ने सेंसर बोर्ड से कहा कि फ़िल्म देखने वालों की अपनी समझ होती है, दर्शकों के विवेक पर भरोसा रखें और इसे लोगों पर छोड़ दें.

कोर्ट ने ये भी कहा कि 'सेंसर' शब्द मीडिया का बनाया हुआ है, आपका काम फ़िल्मों को सर्टिफ़िकेट देना है.

इमेज कॉपीरइट shweta pandey

इस दौरान बोर्ड के वकीलों ने कोर्ट से कहा कि फ़िल्म के कुछ सीन और डायलॉग आपत्तिजनक हैं.

वहीं फ़िल्म निर्माता के वकील ने कहा कि पहले देहली बेली, बैंडिट क्वीन और गैंग्स ऑफ़ वासेपुर जैसी फ़िल्में भी बनाई गई हैं और उन्हें पास किया गया है.

सेंसर बोर्ड ने निर्माता अनुराग कश्यप से कहा था कि वो 'उड़ता पंजाब' फ़िल्म से पंजाब शब्द हटा दें. इसके अलावा फ़िल्म को सेंसर बोर्ड के अनुमति के लिए कई सीन भी हटाने को कहा गया था.

नशे की समस्या पर आधारित फ़िल्म 'उड़ता पंजाब' पर सेंसर बोर्ड की आपत्तियों और कट के निर्देश को अनुराग कश्यप ने 'बेवजह' बताया था. इस मुद्दे पर अनुराग कश्यप और सेंसर बोर्ड के अध्यक्ष पहलाज निहलानी के बीच काफ़ी बयानबाज़ी भी हुई.

फ़िल्म की रिलीज़ को लेकर फ़िल्म उद्योग के कई लोग निर्माता अनुराग कश्यप के साथ खड़े हो गए.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार