'भारत समर्थक पार्टियों को वोट देना इस्लाम के ख़िलाफ़'

  • 12 जून 2016
सैय्यद अली शाह गिलानी इमेज कॉपीरइट Bilal Bahadur

भारत-प्रशासित कश्मीर में सैय्यद अली शाह गिलानी ने कहा है कि कश्मीर में भारत समर्थक सियासी पार्टियों को वोट देना इस्लाम धर्म के ख़िलाफ़ है और शरई तौर पर भी हराम है.

गिलानी के नेतृत्व वाले हुर्रियत कांफ्रेंस के गुट ने श्रीनगर में रविवार को एक सेमिनार आयोजित किया था. इसी सेमिनार में सैय्यद अली शाह गिलानी ने ये बात कही.

सैय्यद अली शाह गिलानी ने भारत समर्थक सियासी पार्टियों को वोट न देने की बात कहते हुए कहा कि नेशनल कांफ्रेंस, पीडीपी, पीपुल्स कांफ्रेंस, आवामी इतिहाद पार्टी और दूसरी जितनी भी चुनाव लड़ने वाली पार्टियां हैं वह सब कश्मीर मसले की दुश्मन हैं.

गिलानी ने कहा, "ये सियासी जमातें उस कुल्हाड़ी के दस्ते हैं जो भारत हम पर चला रहा है. और शरई तौर पर ऐसी जमातों को वोट देना हराम है."

गिलानी ने आगे बताया, "ये सियासी जमातें कश्मीर में जारी भारत के ज़ुल्म और जबर का साथ देती हैं, और शराब, नशे और बेहयाई को आम करते है."

इमेज कॉपीरइट Reuters

इस समय कश्मीर में अनंतनाग ज़िले की एक सीट पर उपचुनाव हो रहा है.

अलगाववादियों ने आम लोगों से इस चुनाव का बहिष्कार करने को कहा है.

कश्मीर में हथियारबंद आंदोलन शुरू होने के बाद आज तक कश्मीर में जितने भी चुनाव कराए गए, अलगाववादियों ने उन सभी चुनावों के ख़िलाफ़ बहिष्कार की मुहिम चलाई है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार