इलाहाबाद में मोदी के भाषण की 6 ख़ास बातें

नरेंद्र मोदी इमेज कॉपीरइट AFP

इलाहाबाद में भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के बाद परिवर्तन रैली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को उत्तर प्रदेश में विकास की गंगा बहाने का वादा किया.

प्रधानमंत्री से पहले रैली को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने भाषण दिया और कैराना का मुद्दा उठाया.

कुछ समाचार चैनलों ने पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कैराना में हिंदू आबादी के पलायन की स्टोरी चलाई थी, जिसके बाद इस पर विवाद छिड़ गया था.

शाह ने कहा, "क्या चाहते हो कैरान जैसा पलायन पूरे उत्तर प्रदेश में हो? नहीं चाहते तो समाजवादी पार्टी को उखाड़ कर फेंक दीजिए."

लेकिन मोदी कैराना पर कुछ नहीं बोले. उन्होंने विकास की बात कही और अपने दो सालों के कार्यकाल की उपलब्धियां गिनाईं.

मोदी के भाषण की कुछ अहम बातें-

इमेज कॉपीरइट AP

1-मोदी ने भाषण में यूपी में सत्ताधारी समाजवादी पार्टी पर निशाना साधा और कहा कि बहुजन समाज पार्टी और सपा के बीच प्रदेश को लूटने को लेकर साठगांठ है.

2-मोदी ने राष्ट्रीय कार्यकारिणी को यूपी में एक यज्ञ की शुरुआत बताते हुए कहा- "उत्तर प्रदेश में विकास का यज्ञ तब सफल होगा जब अहंकार, भाई भतीजावाद, जातिवाद के जहर, साम्प्रदाय के ज़हर, भ्रष्टाचार, गुंडागर्दी, बेईमानी की आहूति दे दी जाए."

3-उन्होंने कहा, "केंद्र सरकार ने फैसला किया है कि वर्ग तीन और चार की सरकारी भर्ती में साक्षात्कार बंद कर दी जाए. साक्षात्कार भ्रष्टाचार की जड़ थी. हमने राज्यों से भी ऐसा करने को कहा है."

4-उत्तर प्रदेश से अपने जुड़ाव का हवाला देते हुए मोदी ने कहा, "मुझे उत्तर प्रदेश से आपने सांसद बनाया है और एक अवसर देकर इस कर्ज को चुकता करने का मौका भी दीजिए." उन्होंने कहा, "अगर पांच साल में हमने कोई नुकसान किया तो हमें लात मारकर निकाल देना."

इमेज कॉपीरइट AP

5-मोदी ने विकासवाद को अपना मूल मंत्र बताया और कहा कि जहां जहां भाजपा की सरकार है वहां प्रदेश में खुशहाली है. उन्होंने दो साल के अंदर प्रदेश के 1529 बिजली से वंचित गांवों में से 1352 गांवों में बिजली पहुंचाने का भी दावा किया.

6. उत्तर प्रदेश में 2017 में विधानसभा चुनाव होने जा रहे हैं और इस रैली को भाजपा के चुनावी अभियान का औपचारिक श्रीगणेश माना जा रहा है.

रैली में मंच पर भाजपा के वरिष्ठ नेताओं, केंद्र के कई मंत्रियों के साथ लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी भी मौजूद थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार