सांप की सर्जरी, लगे 10 टांके

  • 15 जून 2016
सांप की सर्जरी इमेज कॉपीरइट Ashwin Aghor

दो घंटे का कठिन ऑपरेशन, दो बार एनेस्थीसिया और दस टाँके. इसके बाद बची जान.

यह किसी इंसान के नहीं बल्कि एक सांप के ऑपरेशन की कहानी है.

अपने तरह के इस इकलौते मामले में नासिक के सर्प मित्र और पशु चिकित्सकों ने एक धामन सांप के शरीर में फंसी प्लास्टिक की डिब्बी निकालकर उसकी जान बचाई.

इमेज कॉपीरइट Ashwin Aghor

यह सांप नासिक के पास विल्होली गाँव में एक कुंए में मिला.

उसके शरीर में एक प्लास्टिक की डिब्बी घुसी हुई थी जिसकी वजह से उसे गहरा ज़ख्म हो गया था.

इसकी जानकारी नासिक के सर्प मित्र अनंत वाले को दी गई.

इमेज कॉपीरइट Ashwin Aghor

अनंत ने कुँए में उतरकर सांप को बाहर निकाला और उसे नासिक के सरकारी पशु चिकित्सालय लेकर गए.

सांप की हालत देख डॉक्टरों ने उसका तुरंत ऑपरेशन करने का फ़ैसला किया. इसके लिए उसे एनेस्थीसिया दिया गया और डिब्बी को काटकर निकाला गया.

इमेज कॉपीरइट Ashwin Aghor

ऑपरेशन के दौरान जब डॉक्टर डिब्बी को काट रहे थे, तो सांप को होश आने लगा. यह देख डॉकटर ने उसे दोबारा एनेस्थीसिया दिया.

दो घंटे के ऑपरेशन के बाद सांप के शरीर से डिब्बी निकाली गई. उसके ज़ख़्म पर दस टांके लगाए गए.

यह सांप अगले डेढ़ महीने तक डॉक्टरों की निगरानी में रहेगा.

इमेज कॉपीरइट Ashwin Aghor

ज़ख़्म भरने के बाद उसे जंगल में छोड़ दिया जाएगा. फ़िलहाल यह सांप नासिक के सर्प मित्र, मनीष गोडबोले के पास है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार