'उड़ता पंजाब' ऑनलाइन लीक हुआ

इमेज कॉपीरइट AFP

"उड़ता पंजाब" फ़िल्म से मुसीबतों के बादल उड़ने का नाम नहीं ले रहे हैं. बॉम्बे हाईकोर्ट से मिली हरी झंडी के बाद अब फ़िल्म की रिलीज से पहले ही उसके अॉन लाइन लीक होने का मुद्दा गर्माया है. ट्विटर पर "उड़ता पंजाब लीकड" ट्रेंड कर रहा है.

हालांकि फ़िल्म के सितारे शाहिद और आलिया ने अपने ट्वीट्स में दर्शकों से मेहनत से बनाई इस फ़िल्म को थियेटर में देखने की अपील की है, उधर निर्माता निर्देशक करन जौहर और बिपाशा बसु ने भी इस फ़िल्म को थियेटर में देखने के लिए ट्वीट किया है.

ये फ़िल्म अपनी रिलीज़ के निर्धारित शेड्यूल से दो दिन पहले ही लीक हो गई है. फ़िल्म के प्रोड्यूर्स ने इस मामले पर मुम्बई साबर क्राइम सेल में शिकायत दर्ज करा दी है.

हालांकि इस हालिया विवाद पर फ़िल्म के प्रोड्यूसर बालाजी मोशन पिक्चर्स और फैंटम फिल्म्स की तरफ से कोई बयान नहीं आया है.

इमेज कॉपीरइट twitter

आलिया भट्ट ने अपने ट्विटर हैडिंल से ट्वीट किया है-

" गाइज़ प्लीज दो साल की कठिन मेहनत, खून, पसीने और आंसुओं को बर्बाद मत होने देना. प्लीज थियेटर में जाकर ही उड़ता पंजाब देखना."

"मेरे दिल की गहराईयों से ये मेरी तरफ़ से एक ईमानदारी निवेदन है बस इतना ही मैं कह सकती हूं. तब-तक के लिए थियेटर में मिलते हैं."

इमेज कॉपीरइट TWITTER

शाहिद कपूर ने अपने ट्विटर हैडिंल से ट्वीट किया है

"अवैध तौर पर पाइरेसी के ज़रिए नहीं" देखते हैं आप में से कितने लोग सही करते है क्योंकि यही सही है. किसी व्यक्तिगत फायदे के लिए नहीं."

"कई लोगों का ख़ून पसीना इस फ़िल्म में है, ये लड़ाई जितनी हमारी है उतनी भी आपकी भी हैं. अब ये समय है आप इसे दिखा सकते हैं. उड़ता पंजाब थियेटर में ही देंखे."

इमेज कॉपीरइट TWITTER

करन जौहर ने अपने ट्विटर हैडिंल से ट्वीट किया है-

"उड़ता पंजाब के लिंक पर वायरस है. जो कोई भी इसे डाउन लोड करेगा उस पर वायरस हमला होगा. क्या शानदार तरीक़ा है इस भयानक पाइरेसी लड़ने का."

इमेज कॉपीरइट TWITTER

बिपाशा बसु ने अपने ट्विटर हैडिंल से ट्वीट किया है-

"प्लीज इस वीकेंड पर उड़ता पंजाब को थियेटर में देंखे. अॉन लाइन लीक को सफल न होने दे. एक ईमानदार फ़िल्म को एक ईमानदार दर्शक की जरूरत है. "

उड़ता पंजाब' पंजाब में ड्रग्स की समस्या पर बनी है और इसे लेकर अपनी आपत्तियों के चलते सीबीएफ़सी बोर्ड ख़ासा विवादों में रहा है. लेकिन हाई कोर्ट ने फ़िल्मको एक कट के साथ रिलीज़ करने का आदेश दिया था.

हाई कोर्ट ने कहा कि फ़िल्म में ड्रग्स को बढ़ावा देने का प्रयास नहीं किया गया है. फ़िल्म 'उड़ता पंजाब' को लंबी खींचतान के बाद रिलीज की मंजूरी तो मिल गई है लेकिन इसके सर्टिफिकेट पर साफ लिखा है कि इस फ़िल्म को मुंबई हाई कोर्ट ने पास किया है.

इमेज कॉपीरइट TWITTER

ये अपनी तरह का अनूठा मामला है जब किसी फ़िल्म को केंद्रीय फ़िल्म प्रमाणन बोर्ड की तरफ से मिले सर्टिफिकेट पर ऐसा लिखा गया है.

इस फ़िल्म को बॉम्बे हाई कोर्ट से मिली हरी झंडी को पंजाब के एक एनजीओ ने सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है.

समाचार एजेंसी पीटीआई मुताबिक़ ये याचिका ह्यूमन राइट्स एवेयरनेस एसोसिएशन नाम के ग़ैर सरकारी संगठन ने दायर की है.

सुप्रीम कोर्ट में दायर याचिका में कहा गया है कि बॉम्बे हाई कोर्ट को केंद्रीय फ़िल्म प्रमाणन बोर्ड के फ़ैसले में दख़ल देने का कोई अधिकार नहीं है.

लेकिन एनजीओ का कहना है कि फ़िल्म में पंजाब की ग़लत छवि पेश की गई है.

एनजीओ के वकील ने सुप्रीम कोर्ट से याचिका पर तुरंत सुनवाई करने की गुज़ारिश की है, क्योंकि फ़िल्म 17 जून को रिलीज़ हो रही है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार