भारत की पहली महिला फाइटर पायलेटों ने भरी उड़ान

इमेज कॉपीरइट PTI

भारतीय वायु सेना में पहली बार शनिवार को तीन महिला लड़ाकू पायलटों की नियुक्ति की गई.

दूरदर्शन समाचार ने अपने ट्विटर अकाउंट में इस समारोह की जानकारी रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर की फोटो के साथ दी है.

तीन लड़ाकू महिला पायलट में भावना कंठ बिहार से, अवनी चतुर्वेदी मध्य प्रदेश से और मोहना सिंह राजस्थान से हैं.

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के मौक़े पर तीनों को फाइटर पायलट की ट्रेनिंग का एलान किया गया था.

इस अवसर पर पर्रिकर ने पासिंग आउट परेड निरीक्षण किया और विभिन्न शाखाओं के 129 स्नातक प्रशिक्षुओं सहित 22 महिला प्रशिक्षुओं को ‘प्रेजिडेंशियल कमीशन’ दिया.

इमेज कॉपीरइट Twitter

भारतीय वायुसेना की विभिन्न शाखाओं के कैडटों की प्री-कमिशनिंग ट्रेनिंग के सफलता पूर्वक पूरे होने पर ग्रेजुएशन परेड आयोजित हुई.

वायुसेना प्रमुख अरूप साहा ने कहा, "हमने महिला पायलटों को वायुसेना में 1991 में शामिल किया गया था. लेकिन अब तक वो केवल हेलीकॉप्टर और दूसरे विमान ही उड़ा रही थीं."

पिछले महीने राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने कहा था कि भारतीय सशस्त्र बलों में महिलाओं की हिस्सेदारी केवल 2.5 प्रतिशत है वो भी केवल गैर लड़ाकू भूमिकाओं में.

हालाँकि वर्ष 2014 में राहा ने कहा था, "प्राकृतिक रूप से महिलाएं लंबे वक़्त तक लड़ाकू विमान उड़ाने में सक्षम नहीं होती हैं.

ख़ासतौर पर जब वो गर्भवती हों या स्वास्थ्य संबंधी दिक्कत हो."

लेकिन पिछले साल अक्तूबर में उन्होंने कहा था कि वायुसेना महिलाओं को लड़ाकू भूमिकाओं में लाने पर विचार कर रहा है.

पाकिस्तान में पहले से लड़ाकू विमानों की 20 महिला पायलट हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार