राजन को 'कांग्रेस एजेंट' कह कर छाए स्वामी

  • 19 जून 2016
सुब्रमण्यम स्वामी इमेज कॉपीरइट PTI

भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने रविवार को भारतीय रिज़र्व बैंक के गवर्नर रघुराम राजन को 'कांग्रेस का एजेंट' कहा.

उनके इस बयान को लेकर सोशल मीडिया पर चर्चा छिड़ गई है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

समाचार एजेंसियों के मुताबिक़ सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा है कि रघुराम राजन देश की अर्थव्यवस्था को बिगाड़ने और छोटे उद्योगों को तबाह करने की कोशिश कर रहे हैं.

उन्होंने कहा कि राजन भाजपा सरकार के सत्ता में आने का बाद से कांग्रेस के एजेंट की तरह काम कर रहे हैं.

इस बयान पर सोशल मीडिया पर लोग प्रतिक्रिया दे रहे हैं और ट्विटर पर 'सुब्रमण्यम स्वामी' ट्रेंड कर रहे हैं.

लेखराज पंचाल ने लिखा है, "राजन पर दिए गए सुब्रमण्यम स्वामी के बयान से यह तो साफ़ हो गया है कि सरकार अपने सांसदों के ग़लत बयानों का भी समर्थन करती है."

भास्कर मेहता लिखते हैं, "उन्होंने क्रोनी पूंजीवाद को बढ़ने नहीं दिया, उन लोगों को बढ़ने नहीं दिया जो चुनावों में आपकी मदद करते हैं."

इमेज कॉपीरइट Other

रोहित लोखंडे लिखते हैं, "शायद समय आ गया है कि सुब्रमण्यम स्वामी को रघुराम राजन पर आग उगलने से रोक जाए."

कई लोग स्वामी का समर्थन भी कर रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट Other

शबनम अग्निहोत्री लिखते हैं, "सुब्रमण्यम स्वामी को आरबीआई का गवर्नर नियुक्त कर देना चाहिए. वो अर्थशास्त्री हैं, उन्होंने हार्वर्ड से पढ़ाई की है और वे क़ाबिल भी हैं."

बृज यादव ने लिखा है, "सुब्रमण्यम स्वामी को वित्त मंत्रालय मिलना ही चाहिए इस मंत्रिमंडल विस्तार में."

मंत्रमुदित जीएमए1 नाम के एक ट्विटर हैंडल ने लिखा है, "केंद्रीय मंत्रिमंडल में डॉ. सुब्रमण्यम स्वामी को वित्त मंत्री बना दिया जाना चाहिए. देश की अर्थव्यवस्था पटरी पर आ जाएगी."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉयड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार