हमला 'आत्मघाती,' लश्कर ने ली ज़िम्मेदारी

  • 25 जून 2016
इमेज कॉपीरइट AP

भारत प्रशासित कश्मीर के पुलवामा ज़िले में हुए चरमपंथी हमले में सीआरपीएफ के आठ जवानों की मौत हो गई है और 28 अन्य घायल हैं.

गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने हमले में मारे गए जवानों के लिए दुख व्यक्त किया है.

बीबीसी संवाददाता रियाज़ मसरूर ने श्रीनगर से बताया कि घटना पंपोर के फेर्सतबल में हुई जब सीआरपीएफ के जवानों को लेकर बस दक्षिण कश्मीर की ओर जा रही थी.

देखें कैसे हुआ ये हमला.

सीआरपीएफ के आईजी नलीन प्रभात ने इसे आत्मघाती हमला बताया है और साथ ही कहा है कि इस हमले के लिए लश्करे तैयबा ज़िम्मेदार है.

हमले की ज़िम्मेदारी लश्करे तैयबा के प्रवक्ता डॉक्टर अब्दुल्ला गज़नवी ने ली है. उन्होंने दावा किया है कि इस हमले में सीआरपीएफ के 13 जवान मारे गए हैं.

सीआरपीएफ के महानिदेशक रविवार को पंपोर का दौरा करेंगे.

घटना के बाद इलाक़े में लोग सड़कों पर उतर आए थे. इन्हें तितर बितर करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोल छोड़े और हवा में फायरिंग भी की.

लोग इन दो आत्मघाती हमलावरों के शव की मांग कर रहे थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए