मोदी ने काले धन पर दिया 3 महीने का अल्टीमेटम

  • 26 जून 2016
नरेंद्र मोदी इमेज कॉपीरइट AP

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि जो लोग 30 सितंबर तक अपनी अघोषित आय की घोषणा कर देंगे, सरकार उनके ख़िलाफ़ कोई कार्रवाई नहीं करेगी.

रविवार को 'मन की बात' कार्यक्रम में मोदी ने कहा कि जिन लोगों के पास अघोषित आय है, उनके पास ये आखिरी मौका है और ऐसा नहीं करने पर उन्हें मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है.

प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार ने लोगों को काला धन घोषित करने का मौका दिया है और जुर्माना देकर कई तरह के बोझ से मुक्त हुआ जा सकता है.

मोदी ने कहा, "मैंने ये भी वादा किया है कि स्वेच्छा से जो अपनी मिल्कियत के संबंध में, ओषित आय के संबंध में, सरकार को जानकारी दे देंगे, सरकार उनकी किसी भी प्रकार की जांच नहीं करेगी."

मोदी ने कहा, "उनसे ये नहीं पूछा जाएगा कि इतना धन कहां से आया, कैसे आया- एक बार भी पूछा नहीं जाएगा. इसलिए मैं कहता हूं कि अच्छा मौका है कि आप एक पारदर्शी व्यवस्था का हिस्सा बन जाइए."

इमेज कॉपीरइट DD News

मोदी ने कहा, "मैं देशवासियों से कहना चाहता हूं कि 30 सितम्बर तक की ये योजना है, इसको एक आखिरी मौका मान लीजिए. मैंने बीच में हमारे सांसदों को भी कहा था कि 30 सितंबर के बाद अगर किसी नागरिक को तकलीफ हो, जो सरकारी नियमों से जुड़ना नहीं चाहता है, तो उनकी कोई मदद नही हो सकेगी."

उन्होंने 'आपातकाल की काली रात' के बारे में कहा कि 39 साल पहले लोगों की आवाज़ दबा दी गई थी, लेकिन देश की जनता ने लोकतंत्र के प्रति अपनी प्रतिबद्धता को नहीं छोड़ा और उसका ही नतीजा है कि अब जनता खुद तय कर रही है कि सरकार कैसा काम कर रही है.

मोदी ने कहा, "कभी-कभी कुछ लोग मेरे मन की बात कार्यक्रम का मजाक उड़ाते हैं और इसकी आलोचना भी करते हैं. ये इसीलिए संभव है क्योंकि हम लोकतंत्र के बारे में प्रतिबद्ध हैं."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार