ड्रीम जॉब: बीयर में पान का स्वाद दिलाने वाले

  • 29 जून 2016
इमेज कॉपीरइट John J Eapen

खाली वक्त में आप जो काम करते हैं, वो कभी-कभी आपका पेशा भी बन सकता है. जब ऐसा होता है तो उस वक्त को याद करके आपके चेहरे पर मुस्कान आ जाती है.

ऐसा ही कुछ हुआ जॉन जे एपेन के साथ. उनके पिता ने उन्हें 16 साल की उम्र में बीयर ऑफर करते हुए कहा था कि कभी क़ानून का उल्लंघन मत करना.

जॉन ने दुनिया के कई हिस्सों की यात्रा की है. उन्होंने एक कंप्यूटर कंपनी के सेल्स अधिकारी के तौर पर क़तर, यूरोप, अमरीका और कनाडा तक की यात्रा की है.

यह वह दौर था जब वो अमरीका में एयरोस्पेस इंजीनियरिंग के छात्र थे. बाद में उन्होंने भूगोल और रिमोट सेंसिग के क्षेत्र में पढ़ाई शुरू कर दी. लेकिन खाली वक्त में उनका सबसे पसंदीदा काम बीयर पीना होता था.

अलग-अलग देशों में घूमते हुए उन्होंने कई तरह की बीयर का स्वाद चखा.

इमेज कॉपीरइट Tales of Froth

इससे मिली जानकारी ने उन्हें एक ख़ास तरह की बीयर के उत्पादन में मदद की. यह है बीटल जूस बीयर (पान के रस बना बीयर) जिसे भारतीयों की पसंद को ध्यान में रखकर बनाया गया है.

जॉन ने बीबीसी हिंदी को बताया, "मैंने बीटल जूस बीयर बनाने के लिए अपने दोस्त के बताए नुस्खे का इस्तेमाल किया. हमने सोचा कि किसी छोटे शराब उत्पादक (माइक्रोब्रूयरी) के साथ मिलकर इसे तैयार करना अच्छा रहेगा. इसे बनाने के लिए हमने बेंगलुरू में मिलने वाले तीन प्रकार के पान के पत्तों को ताज़ा कटे लेमन ग्रास के साथ मिलाया. हमने इस मिश्रण को बीयर में डाला. यह बड़ी अच्छी तरह से मिल गया और एक हज़ार लीटर बीयर बनकर तैयार हुई."

इस बीयर को बनाने में छह हफ़्ते लगे.

जॉन बताते हैं, "बीयर का स्वाद समय के साथ बदलने लगा. शुरू में यह लेमन ग्रास के स्वाद के साथ ज्यादा कड़वा था फिर धीरे-धीरे पान का स्वाद बीयर में आने लगा. लोग इसे पसंद करने लगे."

इमेज कॉपीरइट Tales of Froth

बीटल जूस बीयर भारत के कई शहरों में अब अजमाई जा रही है. छोटे-छोटे शराब उत्पादकों की वजह से यह आसानी से इन शहरों में उपलब्ध हो पा रही है.

गुड़गाव और बेंगलुरु में बड़े पैमाने पर खुलने वाली माइक्रोब्रूयरीज़ को लेकर होड़ मची हुई है.

इनके अलावा मुंबई, पुणे, कोलकाता और दिल्ली में भी बड़ी संख्या में माइक्रोब्रूयरीज़ खुल रही हैं.

ये माइक्रोब्रूयरीज़ कई प्रकार की बीयर तैयार कर रही हैं, जो गुणवत्ता के मामले में बेहतर और थोड़ी महंगी हैं.

जॉन बताते हैं, "यूरोप में 1997-98 में कुछ दोस्तों ने मुझे क्राफ्ट बीयर (जौ से बनी बीयर) पिलाई. तरह-तरह के लोगों से मिलने की मेरी दिलचस्पी की वजह से मुझे कनाडा में एक बीयर कंपनी के कंज्यूमर पैनल में हिस्सा लेने का मौका मिला. बीयर कंपनी अपनी नई बीयर के स्वाद पर ग्राहकों की राय जानना चाह रही थी. इस पैनल में हिस्सा लेने के दौरान मुझे बीयर के बारे में बहुत कुछ सीखने को मिला."

इमेज कॉपीरइट Tales of Froth

वो आगे बताते हैं, "बीयर के रंग से बीयर में इस्तेमाल होने वाले अलग-अलग तरह के अनाजों के बारे में पता चलता है. वाइन और व्हिस्की की तरह ही खुशबू भी बीयर की बड़ी पहचान है. यह खुशबू बिस्कुट, टॉफी, डार्क चॉकलेट, कॉफी या सिरका किसी भी तरह की हो सकती है. बीयर में इस्तेमाल होने वाला हॉप्स (ख़ास तरह के पौधे का फूल), मसाले या फल के स्वाद का हो सकता है. इसमें इस्तेमाल होने वाला ख़मीर भी कई तरह के स्वाद वाला हो सकता है. यह इस पर निर्भर करता है कि किस देश में बीयर बन रही है."

बोतल से ग्लास में बीयर डालने का तरीका और ग्लास जितना महत्वपूर्ण है उतना ही इसका स्वाद भी अहमियत रखता है.

जॉन का कहना है, "बोतल से ग्लास में बीयर डालते हुए ग्लास को 45 डिग्री पर रखना चाहिए और जब ग्लास में बीयर 75 फ़ीसदी तक भर जाए तो इसे सीधा कर लेना चाहिए. इससे बीयर आराम से ग्लास में जाती है और ताज़ा रहती है."

जॉन ने बीयर पर अपनी विस्तृत जानकारी के आधार पर "टेल्स ऑफ फ्रॉथ" नाम से एक ब्लॉग शुरू किया है.

इमेज कॉपीरइट Tales of Froth

ब्लॉग को मिलने वाली सफलता को देखते हुए वो बीयर पर एक वर्कशॉप भी आयोजित कर चुके हैं.

लेकिन जिस तरह से वाइन का प्रचार करने के लिए क्लब हैं और वाइन के उत्पादन को लेकर कोर्स चलते हैं, वैसे बीयर को अपना सफर तय करना बाकी है.

जॉन कहते हैं, "दूसरे देशों की तरह हमारे यहां बीयर टेस्टर (बीयर चखने वाला) का कोई कॉन्सेप्ट नहीं है. बीयर टेस्टर के मार्फत आपको बीयर के स्वाद के साथ कई और जानकारियां मिलती हैं."

वो बताते हैं,"इस क्षेत्र में करियर के कई विकल्प हैं. बीयर पीने वालों को तरह-तरह की बीयर के बारे में बताने की जरूरत पड़ती है. उन्हें यह भी बताने की जरूरत होती है कि बीयर के साथ खाने में क्या लें. यहां भारत में इसके बारे ऐसा कोई कोर्स नहीं है."

कॉफी टेस्टर की तरह बीयर टेस्टर को उतने सख्त परहेज नहीं रखने होते हैं. बीयर टेस्टर बीयर टेस्ट करने के दो घंटे पहले तक सिगरेट पी सकता है.

जॉन एक बीयर टेस्टर को सलाह देते हैं, "आपको अपना तालू पानी, क्रीम या ब्रेड या फिर तीनों से एक साथ साफ़ करना चाहिए."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार