मिलिए भारत के 'साड़ीमैन' से!

  • 5 जुलाई 2016
हिमांशु वर्मा इमेज कॉपीरइट himanshu verma

खुद को 'साड़ीमैन' कहने वाल हिमांशु वर्मा पिछले 12 सालों से साड़ी पहन रहे हैं. पिछले तीन सालों से ये भारत की राजधानी दिल्ली में 'साड़ी फ़ेस्टिवल' करवा रहे हैं.

दिल्ली में रहने वाले हिमांशु वर्मा 'रेड अर्थ' नाम की संस्था के स्थापक हैं. ये संस्था भारतीय सौंदर्य से जुड़ी चीज़ों पर काम करते हैं और फिर उसकी प्रदर्शनी भी लगाते हैं.

इमेज कॉपीरइट himanshu verma

हिमांशु कहते हैं, "साड़ी और धोती दोनों में ही प्लीट्स होती हैं और मुझे उनमें ज़्यादा फ़र्क नहीं दिखाई दिया और इसलिए मैंने साड़ी को पहनने का चुनाव किया."

इमेज कॉपीरइट himanshu verma

हिमांशु के पिता एक बिज़नेसमैन हैं और मां रिटायर्ड बैंककर्मी हैं. हिमांशु ने पहली साड़ी अपनी मां की ही पहनी थी और उनके माता पिता को इससे कोई परेशानी नहीं है.

इमेज कॉपीरइट himanshu verma

वो कहते हैं, "पिछले 12 सालों में शायद ही कोई ऐसा वाक्या हुआ होगा जब लोग मुझपर हंसे होंगे. अगर वो हंसते भी हैं तो मुझे इससे कोई फ़र्क नहीं पड़ता मैं बस साड़ी पहनकर खुश रहता हूं."

इमेज कॉपीरइट himanshu verma

ज़्यादातर हिमांशु साड़ियां ही पहनते हैं. जींस और टी शर्ट बस साल में एक-दो बार ही पहनते हैं. साड़ियों के आलावा वो धोती और कुर्ता पायजामा पहनते हैं.

इमेज कॉपीरइट himanshu verma

12 साल पहले हिमांशु चमकीली साड़ियां पहनते थे और वो खुद को 'साड़ीमैन' कहते हैं. इनके मुताबिक़ साड़ी मर्द और महिलाएं दोनों ही पहन सकते हैं.

इमेज कॉपीरइट himanshu verma

हिमांशु को साड़ी पहनना पसंद है और वो किसी को साड़ी पहनने के लिए नहीं कहते. साड़ी पहनना उनकी निजी इच्छा है.

इमेज कॉपीरइट himanshu verma

आजकल हिमांशु को कर्नाटक की 'इनकल' साड़ियां काफ़ी पसंद आ रही है. हिमांशु का नारा है 'जय साड़ी - साड़ी का उत्सव चलता रहे.'

इमेज कॉपीरइट himanshu verma

हिमांशु अब 'साड़ी फ़ैस्टिवल' मुंबई, बैंगलौर और चैन्नई में भी करवाएंगे. 35 साल के हिमांशु ने अभी तक शादी नहीं की है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार