'अब पंजाब में कांग्रेस से वफ़ादारी की क़सम'

  • 12 जुलाई 2016
हिंदुस्तान टाइम्स इमेज कॉपीरइट Hindustan Times

दिल्ली से प्रकाशित अंग्रेज़ी अख़बारों में आज भी कश्मीर में जारी तनाव से जुड़ी ख़बरों और तस्वीरों को प्रमुखता से प्रकाशित किया गया है.

'हिंदुस्तान टाइम्स' ने पहले पन्ने पर श्रीनगर की खाली सड़कों की एक तस्वीर प्रकाशित की गई है जिसमें दुकान के शटर पर लिखा है, "बुरहान, अवर हीरो" यानी बुरहान हमारे हीरो हैं.

'द टाइम्स ऑफ़ इंडिया' ने भी पहले पन्ने पर श्रीनगर की खाली सड़कों की तस्वीर प्रकाशित की है. इसी ख़बर पर 'द हिंदू' लिखता है, "सेंटर रशेस मोर ट्रूप्स टू क्वेल कश्मीर अनरेस्ट" यानी "कश्मीर की अशांति को दबाने के लिए केंद्र ने और सुरक्षाबल कश्मीर दौड़ाए."

अपनी एक रिपोर्ट में टाइम्स ऑफ़ इंडिया ने सवाल उठाया है, "कौन था बुरहान वानी, क़ाग़ज़ी शेर या भारतीय एजेंट?"

इमेज कॉपीरइट AFP

'द इंडियन एक्सप्रैस' की एक रिपोर्ट के मुताबिक़ कश्मीर में प्रदर्शन कर रहे नौजवानों की आंखों को पुलिस गोलीबारी में छर्रों से नुक़सान पहुँच रहा है. रिपोर्ट के मुताबिक़ अब तक 92 युवाओं की आंखों का ऑपरेशन किया गया है.

इस्लामी प्रचारक ज़ाकिर नाइक से जुड़ी ख़बरें आज भी अख़बारों के पहले पन्ने पर हैं. 'द टाइम्स ऑफ़ इंडिया' लिखता है, "ज़ाकिर नाइक ने भारत वापसी तीन सप्ताह के लिए टाली" रिपोर्ट के मुताबिक़ नाइक मुंबई से सऊदी अरब गए थे जहां से अब वो मुंबई लौटने के बजाए दक्षिण अफ़्रीका जा रहे हैं.

हालांकि उन्होंने एक बयान जारी कर कहा है कि अभी तक किसी भी भारतीय जांच एजेंसी ने उनसे संपर्क नहीं किया है.

इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक़ पश्चिम बंगाल के बाद अब पंजाब के कांग्रेसी नेता शपथपत्र देकर कांग्रेस के प्रति वफ़ादारी की क़सम खा रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट EPA
Image caption बांग्लादेश में ज़ाकिर नाइक के समर्थन में प्रदर्शन हुए हैं.

'द टाइम्स ऑफ़ इंडिया' की एक रिपोर्ट के मुताबिक़ केरल के 'सलाफ़ी मुसलमान' श्रीलंका में सच्चा इस्लाम खोज रहे हैं. इस रिपोर्ट के मुताबिक़ केरल के जिन युवाओं पर इस्लामिक स्टेट से जुड़ने का संदेह है उनमें से कम से कम तीन ने अपने परिजनों से कहा था कि वो श्रीलंका में हदीस की शिक्षा लेने जा रहे हैं.

वहीं 'द हिंदू' की एक रिपोर्ट के मुताबिक़ केरल के मुख्यमंत्री पिनरई विजयन ने कहा है कि केरल से ग़ायब 21 युवा संभवतः इस्लामिक स्टेट के कैंपों में हैं.

टाइम्स ऑफ़ इंडिया की एक रिपोर्ट के मुताबिक़ तेलंगाना भारत का ऐसा पहला प्रांत होगा जिसका अपना 'विदेश मंत्री' होगा. मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव के बेटे केटी रामा राव तेलंगना के पहले 'विदेश मंत्री' होंगे.

द इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक़ भारत सरकार एस्सार टेपों की जाँच पुलिस को सौंप रही है. ऐसा सरकार ने दिल्ली हाई कोर्ट को बताया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए