उत्तराखंड के बाद अरुणाचल पर मोदी सरकार को झटका

  • 13 जुलाई 2016
इमेज कॉपीरइट Supreme Court of India2

सुप्रीम कोर्ट ने अरुणाचल प्रदेश के राज्यपाल की ओर से नौ दिसंबर के बाद दिए गए सभी फ़ैसलों को खारिज कर दिया है.

अदालत ने कहा है कि अरुणाचल प्रदेश में 15 दिसंबर 2015 की स्थिति बहाल की जाए.

समाचार एजेंसी पीटीआई ने राहुल गांधी के हवाले से कहा है कि वो सुप्रीम कोर्ट का शुक्रिया अदा करते हैं.

राहुल गांधी ने अपने संदेश में कहा है, "सुप्रीम कोर्ट का शुक्रिया कि उन्होंने प्रधानमंत्री को समझाया कि लोकतंत्र क्या है."

इमेज कॉपीरइट Reuters

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कांग्रेस के ट्विटर हैंडल के ज़रिए अरुणाचल प्रदेश के लोगों को बधाई दी है और कहा है कि देश में लोकतंत्र के मज़बीत करने और उसके ढ़ांचे को बचाने के लिए पार्टी कोशिश करती रहेगी.

उन्होंने कहा है कि इस फ़ैसले से लोकतांत्रिक मूल्यों की जीत हुई और उन्हें उम्मीद है कि अब सरकार अपनी ताकत का ग़लत इस्तेमाल नहीं करेगी.

राज्य में तब राजनीतिक संकट गहरा गया था, जब 60 सदस्यीय विधानसभा में सत्तापक्ष कांग्रेस के 47 में से 21 विधायकों ने मुख्यमंत्री नाबाम तुकी को हटाने की मांग की थी.

राज्य में जारी राजनीतिक गतिरोध को देखते हुए केंद्र सरकार ने 24 जनवरी को वहां राष्ट्रपति शासन की सिफारिश कर दी थी. इसे कांग्रेस ने सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी.

इमेज कॉपीरइट PIB

कई हफ़्ते चली राजनीतिक उठापटक के बाद राज्यपाल राजखोवा ने कांग्रेस के बाग़ी गुट के नेता कालीखो पुल को 19 फरवरी को मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई थी.

कालिखो को भाजपा के 11 विधायकों का समर्थन हासिल है. सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले के बाद कालिखो सरकार संकट में आ गई है.

सुप्रीम कोर्ट का फ़ैसला आने के बाद राजनीतिक बयानवाजी तेज हो गई है.

कांग्रेस मीडिया सेल के प्रमुख रणजीत सुरजेवाला ने एक ट्वीट में कहा, ''कांग्रेस सरकार बहाल होगी. सुप्रीम कोर्ट ने राज्यपाल के फ़ैसले को गैरकानूनी बताया है. राज्यपाल को तत्काल प्रभाव से हटाया जाना चाहिए.''

इमेज कॉपीरइट PMO India

वहीं दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के प्रमुख अरविंद केजरीवाल ने एक ट्वीट में कहा, '' सुप्रीम कोर्ट का फ़ैसला केंद्र की तानाशाह मोदी सरकार पर एक करारा तमाचा है. उम्मीद है कि मोदी जी इससे सबक लेकर लोकतांत्रिक रूप से चुनी गई सरकारों में दखलंदाजी बंद करेंगे.''

सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले के बाद अरुणाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री नवाम तुकी ने एक ट्वीट में लिखा, '' यह ऐतिहासिक और असाधरण फ़ैसला है, जिसकी लोग उम्मीद कर रहे थे.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए