'दाल की क़ीमत तुम क्या जानो मोदी बाबू'

  • 28 जुलाई 2016
इमेज कॉपीरइट EPA

लोकसभा में महंगाई पर हुई चर्चा के दौरान कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने भाषण एक नए नारे पर ख़त्म किया- 'अरहर मोदी, अरहर मोदी.'

फिर क्या था, जल्द ही ये ट्विटर पर ट्रेंड होने लगा.

पढ़ें- 'आजकल नया नारा है...अरहर मोदी, अरहर मोदी'
इमेज कॉपीरइट twitter

लोगों ने बढ़ती महंगाई पर नरेंद्र मोदी सरकार को घेरा और अपनी परेशानी बयां की, तो कुछ लोगों ने राहुल गांधी पर भी सवाल उठाए और पूछा कि उनके पास इस समस्या का क्या समाधान है.

कुमार गौरव ने ट्विटर हैंडल ‏@gaurav9rock3 से कहा है- जहाँ दाल दाल में सोने की चिड़िया करती है बसेरा वो भारत देश है मेरा.

इमेज कॉपीरइट twitter

डॉक्टर शौकत मंसूरी (@shoquatmansoori) ने लिखा है- 50 रुपए की दाल 180 रुपए में बेचने वाले मोदी काका पहले चौकीदार है.

छत्तीसगढ़ यूथ कांग्रेस ने ट्विटर हैंडल ‏@cg_pyc से लिखा है- 2014 से पहले महंगाई=डायन, 2014 के बाद महंगाई=मौसी.

‏@IAm007Boy ने लिखा है- मित्रों मैंने कहा था न खाऊँगा, और न खाने दूंगा आपका अपना #ArharModi.

इमेज कॉपीरइट twitter

सम्राट काडोलकर ने ट्विटर हैंडल ‏@KadolkarSamrat ने लिखा है- महंगाई कम करने का वादा करके सत्ता में आए हुए मोदी जी, जनता माफ़ नहीं करेगी.

विनायक एन सावने (‏@vinayaknsavane) ने लिखा है- देश नही...दाल बदल रही है.

इमेज कॉपीरइट twitter

लेकिन ‏@navdeep79534927 ने राहुल गांधी के बारे में लिखा है- अरे वो देश की बात करने नहीं बल्कि पोकेमॉन गो खेलते हुए पिकाचू को पकड़ने पार्लियामेंट आए हैं.

रुबी ख़ान ने लिखा है- जिसे अरहर की दाल कहनी हो तो वो पाकिस्तान चला जाए, महंगाई का रोना रोने वाले लोग देशद्रोही हैं. उन्हें भी वही चले जाना चाहिए.

चंदन ने ट्विटर हैंडल ‏@hamarechandan से लिखा है- मोदी जी, सिर्फ चाय पीकर ही पेट भर लेते है दाल वाली विटामिन मोदी को चाय पीने से ही मिल जाता है आखिर 56 इंची है ना.

इमेज कॉपीरइट twitter

मुकेश पुरोहित (‏@purohitmukesh85) ने लिखा है- #ArharModi भैया आपको लग रहा है कि मैं सो रहा हूँ पर मैं सो नहीं रहा. जो कल भाषण लिख के दिया था, मैं उसे याद कर रहा हूँ.

जनेश्वर शर्मा ने ट्विटर हैंडल (‏@janeshwar1810) ने लिखा है- राहुल गांधी को नया स्क्रिप्ट राइटर मिल गया है. क्या उन्हें अरहर के बारे में पता है?

इमेज कॉपीरइट twitter

‏@dr_zende ने लिखा है- 2014: हर हर मोदी, घर घर मोदी, 2015: दुनियाभर के दर दर मोदी, 2016: अरहर मोदी, टमाटर मोदी, 2017: डर डर मोदी, डर डर मोदी.

आकाश टंडन ने ट्विटर हैंडल ‏@_akashT ने लिखा है- वेज तुम खा नहीं सकते और नॉन वेज मैं तुम्हे खाने नहीं दूँगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार