'दलितों के मामले में भाजपा-कांग्रेस एक जैसे'

  • 4 अगस्त 2016
मायावती इमेज कॉपीरइट PRASHANT DAYAL

बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने गुजरात के उना में गोहत्या के आरोप में पीटे गए दलितों से मुलाकात की है.

उन्होंने पत्रकार से बात करते हुए कहा कि गुजरात प्रशासन ने उना की घटना को गंभीरता से नहीं लिया और अगर वे इस मामले को संसद में नहीं उठाती तो गुजरात सरकार दलितों की पिटाई पर कोई कार्रवाई करने के पक्ष में नहीं थी.

दलितों के मुद्दे पर मायावती ने भाजपा और कांग्रेस दोनों को घेरा.

उन्होंने कहा कि गुजरात समेत देश के कई राजयों में दलितों की स्थिति में कई सुधार नहीं आया, इस मामले में भाजपा और कांग्रेस एक जैसी ही हैं.

मायावती ने अहमदाबाद के सारंगपुर इलाके में डॉ बाबा साहेब आंबेडकर की प्रतिमा पर फूलमाला चढ़ाकर अपने कार्यकर्ताओं को भी संबोधित किया.

इमेज कॉपीरइट Ankur Jain

उन्होंने भाजपा पर आरोप लगाया कि पहले उत्तर प्रदेश में गाय के मुद्दे को लेकर बवाल खड़ा किया गया था, सिर्फ़ गुजरात में ही नहीं बल्कि गोवंश के मुद्दे को उछालकर पूरे देश को परेशान किया जा रहा है.

वहीं भाजपा ने मायावती के गुजरात दौरे को राजनीति करार दिया.

गुजरात के अनुसूचित जाति विभाग के मंत्री रमणलाल वोरा ने मायावती के गुजरात दौरे को राजनीति बताते हुए कहा कि देश के कई इलाकों में एसी घटनाएं घटती हैं, लेकिन मायावती वहां नहीं जाती, गुजरात आने के पीछे उनका मकसद 2017 में होने वाले चुनाव हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार