क्या आपको भारत से प्यार है?

  • 21 अगस्त 2016
तिरंगा इमेज कॉपीरइट AFP

भारत से प्यार करने का पहला तरीक़ा तो यह है कि आपके पास एक भारतीय पासपोर्ट होना चाहिए.

मेरे पास ऐसे तीन पासपोर्ट हैं. ऐसा इसलिए है क्योंकि भारतीयों को ज़्यादातर देशों में जाने के लिए, पहले से ही वीज़ा की ज़रूरत होती है.

मैं बहुत ज़्यादा सफ़र करता हूं, इसलिए मुझे अपने पास दो पुराने पासपोर्ट रखने पड़ते हैं. इन पर मुझे लंबे समय के लिए वैध वीज़ा मिला हुआ है.

मैंने हक़ीक़त में भारत के बाहर बहुत ज़्यादा काम नहीं किया है. लेकिन मैं कई भारतीयों को जानता हूं जिन्होंने अपना ज़्यादातर जीवन विदेश में काम करते हुए गुज़ारा है, फिर भी वो अपना पासपोर्ट रखते हैं.

इमेज कॉपीरइट

संगीतकार ज़ुबिन मेहता उनमें से एक हैं. लंदन में एमनेस्टी इंटरनेशनल के सचिव सलिल शेट्टी भी ऐसे ही लोगों में से हैं.

मेहता कई साल से न्यूयॉर्क फ़िलहार्मोनिक के प्रमुख हैं. वो इस ग्रुप के एकमात्र सदस्य थे जिन्हें ग्रुप के सफ़र करने से पहले वीज़ा की क़तार में खड़ा होना पड़ता था. लेकिन भारतीय पासपोर्ट रखना उनकी अपनी पसंद थी.

दूसरा तरीक़ा यह है कि भारत को प्यार करने के लिए आप भारत के प्यारे लोगों से प्रेम कर सकते हैं.

इमेज कॉपीरइट EPA

मेरा मतलब है कि सभी भारतीय लोग. वो लोग जो आपकी तरह आस्था रखते हों, लेकिन वो लोग भी जो दूसरी आस्था, दूसरी जाति और दूसरी भाषा के हैं. वो लोग जिनसे आप सहमत हैं और समान रूप से वो भी, जिनसे आप सहमत नहीं हैं.

वो लोग जो हर तरह का मांस खाते हैं और वो लोग जो यह नहीं खाते हैं. सभी भारतवासी को प्यार करना ही वास्तव में भारत को प्यार करना है. भारत के नक्शे पर रेखाओं को प्यार करना एक प्रतीक को प्यार करना है.

अपने देश को प्यार करने का तीसरा तरीक़ा यह है कि जहां तक संभव हो आप यहां की भाषाओं को सीखें.

गांधी ने कहा है कि सभी भारतीयों को हिन्दुस्तानी भाषा ज़रूर सीखनी चाहिए. देवनागरी लिपि में भी और फ़ारसी-अरबी लिपि में भी. मैंने ये दोनों ही सीखी है, लेकिन मैं नहीं समझता कि हर भारतीय को हिन्दुस्तानी सीखनी चाहिए.

इमेज कॉपीरइट Thinkstock

भारत को प्यार करने का चौथा तरीक़ा यह हो सकता है कि आप यहां के शास्त्रीय संगीत और कविताओं को समझें. ऐसा आमतौर पर व्यस्क होने के बाद ही हो सकता है, क्योंकि भारतीय संगीत पूरी तरह से विकसित संगीत है और यह आनंद नहीं बल्कि दर्द से भरा हुआ है.

मैं कई कविताओं को दिल से समझता हूं, मसलन पर्सी शेली की 'ओज़िमांडिस'. लेकिन जो कविताएं हर बार पढ़ने या सुनने पर सबसे ज़्यादा प्रभावित करती हैं, वो हैं नरसिंह मेहता की 'नाग दमन'. नरसिंह मेहता ने ही गांधी का पसंदीदा गीत "वैष्णव जण..." लिखा था.

नाग दमन में इस बात का ज़िक्र है कि किस तरह से बालक कृष्ण ने कालिया नाग से युद्ध किया था, लेकिन उसे मारा नहीं था. यह बात मुझे बिल्कुल भी शर्मिंदा नहीं करती कि जब भी मैं इस कविता को सुनता हूं तो मैं रोने लगता हूं. ख़ासकर जब यह सरल संगीत में रचा गया हो.

भारत को प्यार करने का पांचवां तरीक़ा यहां के भोजन से प्यार करना है. मैं ऐसा इसलिए नहीं कह रहा हूं कि आप दूसरों के भोजन से नफ़रत करें. मैं बिल्कुल खुली सोच का आदमी हूं और कुछ साल पहले वियतनाम गया था. मैं जिस दिन पहुंचा, उसी दिन मैंने हनोई में सांप और कुत्ता खाया था.

मुझे जापानी भोजन बहुत पसंद है, लेकिन जो खाना मुझे सबसे ज़्यादा पसंद है वो है भारतीय खाना. सभी तरह के खाने में मुझे पाटीदार किसानों का खाना सबसे ज़्यादा अच्छा लगता है. यह बाजरे की एक मोटी रोटी होती है, जिसे गुजराती में रोट्लो कहा जाता है, जिसे सब्ज़ी और लहसन की चटनी के साथ खाया जाता है. मैं ज़्यादातर लंच में यही खाता हूं और इसे सारी उम्र खा सकता हूं.

भारत से प्रेम करने का छठा तरीक़ा यह है कि आप इसके संविधान को पढ़ें और इसे समझें. भारत का संविधान दुनिया के सबसे विशाल संविधान में से एक है. लेकिन मेरा मतलब है इसकी मूल भाव को जानना, इसकी प्रस्तावना और इसका महत्व समझना; और वो मूल अधिकार जो हमें दिए गए हैं, उसे समझना.

भारत का संविधान दुनिया के सबसे महान ग्रंथों में से एक है और ज़्यादा से ज़्यादा भारतीयों को इसे आत्मसात कर लेना चाहिए.

इमेज कॉपीरइट Tibin Augustine

अपने देश से प्यार करने का सातवां तरीक़ा, सेवा में लगे लोगों का सम्मान करना है. मेरी नज़र में खिलाड़ियों से ज़्यादा महत्वपूर्ण शिक्षक होते हैं.

खेलों में जीत से राष्ट्रवाद जगता है, जो कि खोखला होता है और यह निश्चित तौर पर एक तरह का पतन है.

मैं खिलाड़ियों से नफ़रत नहीं करता, लेकिन यह भी नहीं मानता कि उनका योगदान कोई बहुत महान काम है.

भारत को प्यार करने का मेरा आठवां तरीक़ा यह है कि मैं अपने टैक्स अदा करूं. मैं ऐसा करने में कोई गर्व महसूस नहीं करता, क्योंकि यह मुझे करना ही पड़ता है. लेकिन ज़्यादातर भारतीय अपना आयकर जमा नहीं करते हैं.

मैं ऐसे लोगों का ज़िक्र नहीं कर रहा हूं, जो या तो ग़रीब हैं या उन्हें इसकी छूट मिल जाती है. मैं उच्च वर्ग और मध्यम वर्ग के उन भारतीयों से पूछना चाहता हूं, जो टैक्स भरने में बेईमानी करते हैं, कि आप भारत से प्यार करते हैं? आप कहेंगे हां, लेकिन मैं कहूंगा नहीं.

अपने देश से प्रेम करने का नौवां तरीक़ा, यहां के लोगों के लिए हमदर्दी रखना है. कमज़ोर और हाशिए पर खड़े लोगों के दुख-दर्द को समझना.

इमेज कॉपीरइट AFP

जब दलितों को चोट पहुंचाया जाए तो आपको भी चोट लगे, जब आदिवासियों पर अत्याचार हो तो यह आपको अपने ऊपर अत्याचार लगे, जब मुस्लिमों पर ज़ुल्म हो तो आपको शर्म आए; यह सब अक्सर हमारे देश में होता रहता है. ऐसी हमदर्दी भी भारत को प्यार करने के समान है.

अपने देश से प्यार करने का अंतिम तरीक़ा यह है कि हम इसके सभी विसंगतियों और विरोधों को लेकर अपना रवैया खुला रखें. इतने विशाल देश में भाषा, धर्म, पर्सनल लॉ, भोजन या संगीत में समानता को लादना मेरी नज़र में भारत से प्यार करना नहीं है.

मेरी नज़र में ये अपने देश से प्यार करने के सबसे बेहतर तरीक़े हैं. इससे ज़्यादा जो कुछ है, मेरे लिए वह एक संयोग है.

आप इन दस तरीक़ों से असहमत हो सकते हैं या मेरे इस विचार के लिए मुझसे नफ़रत भी कर सकते हैं. लेकिन मैं आपसे प्यार करता रहूंगा, ठीक वैसे ही जैसे मैंने कहा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार