'बसपा का रिजेक्टेड माल ले रही है भाजपा'

  • 28 अगस्त 2016
मायावती इमेज कॉपीरइट PTI

बहुजन समाज पार्टी प्रमुख मायावती ने रविवार को उत्तर प्रदेश के आज़मगढ़ में एक बड़ी रैली को संबोधित किया.

सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव के संसदीय क्षेत्र में हुई मायावती की इस रैली को 'सर्वजन हिताय सर्वजन सुखाय' रैली कहा गया.

पिछली रैलियों की तरह इस बार भी मायावती ने भारतीय जनता पार्टी और सत्ताधारी समाजवादी पार्टी के बीच गुपचुप गठबंधन होने के आरोप लगाए.

मायावती ने कहा, "बीजेपी और समाजवादी पार्टी धर्म की आड़ में राजनीति करती हैं और बसपा के ख़िलाफ़ षड़यंत्र रच रही हैं."

मायावती ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि पार्टी उत्तर प्रदेश में 37 साल तक सत्ता में रही लेकिन कोई काम नहीं किया जिसकी वजह से वो न सिर्फ़ प्रदेश बल्कि केंद्र की सत्ता से भी बाहर है.

भाजपा पर निशाना साधते हुए मायावती ने कहा कि यूपी में भाजपा की हालत इतनी ख़राब है कि वो बहुजन समाज पार्टी से निकाले जा रहे नेताओं को बिना जांच पड़ताल के शामिल कर रही है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption फ़ाइल फोटो

मायावती ने कहा, "उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी ने छह साल तक शासन किया लेकिन इस दौरान विकास और जनहित के कार्य करने के बजाए आरएसएस के एजेंडे पर चलकर सांप्रदायिक ताक़तों को मज़बूत किया."

मायावती ने कहा कि लोकसभा चुनावों से पहले भाजपा ने अच्छे दिनों का सपना दिखाया था जो अब बुरे दिनों में बदल गया है.

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी लोकसभा चुनावों के दौरान किया गया अपना कोई भी वादा पूरा नहीं कर सके हैं.

मायावती ने इससे पहले आगरा में एक बड़ी रैली को संबोधित कर अपने चुनाव अभियान की शुरूआत की थी.

तब भी मायावती ने प्रधानमंत्री मोदी और आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत को निशाने पर लिया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार