आरएसएस वाले बयान पर क़ायम हूं: राहुल गांधी

  • 1 सितंबर 2016

महात्मा गांधी की हत्या को लेकर राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ यानी आरएसएस पर एक चुनावी सभा में दिए बयान पर मानहानि का मुक़दमा झेल रहे कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी अपने बयान से पीछे नहीं हटेंगे.

राहुल गांधी के वकील कपिल सिब्बल ने गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट में कहा कि राहुल अपने बयान, ''आरएसएस के लोगों ने गांधी को गोली मारी'' पर क़ायम हैं और रहेंगे.

इमेज कॉपीरइट twitter

राहुल गांधी के दफ़्तर ने ट्विट कर कहा कि राहुल गांधी अपने शब्द वापस नहीं लेंगे.

इमेज कॉपीरइट AFP

राहुल के वकील ने कोर्ट में कहा कि राहुल मानहानि के मुक़दमे का समाना करने के लिए तैयार हैं.

राहुल गांधी ने उनके ख़िलाफ़ दायर मानहानि केस को खारिज़ करने की सुप्रीम कोर्ट में दायर याचिका को वापस ले ली है और अब वह निचली अदालत में मुक़दमे का समाना करेंगे.

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र के भिवंडी कोर्ट के सामने व्यक्तिगत तौर पर पेशी से राहुल गांधी को छूट देने से इनकार कर दिया है.

राहुल गांधी ने 6 मार्च, 2014 को महाराष्ट्र के भिवंडी इलाक़े में एक चुनावी रैली में कहा था कि महात्मा गांधी की हत्या राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के लोगों ने की थी.

संघ की भिवंडी इकाई के सचिव राजेश कुंटे ने राहुल के ख़िलाफ़ मानहानि का मामला दाख़िल किया था. कुंटे ने कहा था कि कांग्रेस उपाध्यक्ष ने अपने भाषण के ज़रिए संघ की प्रतिष्ठा को चोट पहुंचाने की कोशिश की थी.

भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता शाहनवाज़ हुसैन ने राहुल गांधी के इस कदम की आलोचना करते हुए कहा कि उनके इस कदम से कांग्रेस अब 44 से चार सीट पर आ जाएगी.

आरएसएस के वरिष्ठ प्रचारक मनमोहन वैद्य ने भी राहुल के इस कदम पर सवाल उठाया है.

वैद्य ने कहा कि,''राहुल क्यों इस ट्रॉयल से पिछले दो वर्षों से बचते रहे हैं. वे बार बार यू टर्न क्यों ले रहे हैं.क्या वे सच का सामना करने से कतरा रहे हैं.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे

संबंधित समाचार