'केरल से लापता 22 लोग आईएस में शामिल'

  • 13 सितंबर 2016
इस्लामिक स्टेट इमेज कॉपीरइट AP

केरल के कासरगोड और पल्लाकाड से जुलाई में अचानक लापता हुए 22 लोग अफ़गानिस्तान में इस्लामिक स्टेट के कैंप में शामिल हो गए हैं.

'द पायनियर' अख़बार ने एनआईए के सूत्रों के हवाले से ये ख़बर छापी है. एनआईए के सूत्रों के अनुसार इनमें 13 पुरुष, छह महिलाएं और तीन बच्चे हैं.

एक एनआईए अधिकारी के हवाले से बताया गया है कि दिल्ली से पकड़े गए यासमीन मोहम्मद ज़ाहिद एक संदिग्ध ने यह जानकारी दी है. वो भारत से अफ़ग़ानिस्तान जा रहे थे. उन्होंने जो जानकारी दी है, उसके मुताबिक़ भारत से ये लोग बैंगलुरू, हैदराबाद और मुंबई से कुवैत, मस्कट और अबू धाबी के ज़रिए अफ़ग़ानिस्तान गए.

अख़बार के मुताबिक़ ऐसी संभावना है कि इनमें से कई युवकों को आईएस चरमपंथी ट्रेनिंग देगा.

इमेज कॉपीरइट EPA

'द इंडियन एक्सप्रेस' की ख़बर के मुताबिक़ भारत प्रशासित कश्मीर में ऐहतियात के तौर पर मंगलवार को ईद के दिन कर्फ़्यू लगाया गया है.

किसी भी तरह की गड़बड़ी को रोकने के लिए ऐसा किया जाएगा. अख़बार के मुताबिक़ इससे कश्मीर के नागरिक बेहद मायूस हैं और बड़ी संख्या में ईद मनाने श्रीनगर पहुंचे लोग भी निराश हैं.

'द इंडियन एक्सप्रेस' की ही ख़बर है कि केंद्र सरकार ने इस बात की पूरी तैयारी कर ली है कि जीएसटी (गुड्स एंड सर्विसिस टैक्स) को एक अप्रैल 2017 से लागू कर दिया जाएगा.

इसके लिए सरकार ने सोमवार को जीएसटी काउंसिल के गठन को सहमति दे दी है.

ये काउंसिल नवंबर तक जीएसटी से जुड़े कई मुद्दों पर फ़ैसला लेगी जिसमें टैक्स रेट और छूट की सीमा वगैरह शामिल हैं.

इमेज कॉपीरइट AP

'टाइम्स ऑफ़ इंडिया' ने रियो पैरालिंपिक में भारत को रजत पदक दिलाने वाली दीपा मलिक की ख़बर पहले पन्ने पर छापी है.

वो पैरालंपिक में भारत को पदक दिलाने वाली पहली महिला बन गई हैं.

दीपा मलिक ने गोला फेंक में दूसरा स्थान हासिल किया.

अख़बार के मुताबिक़ गुड़गांव की रहने वाली दीपा स्पाइनल ट्यूमर से ग्रस्त हैं और उनकी दो दर्जन से भी ज़्यादा बार सर्जरी हो चुकी है.

उन्हें हरियाणा सरकार और खेल मंत्रालय ने इनाम देने का भी ऐलान किया है.

'हिंदुस्तान टाइम्स' में छपी ख़बर के मुताबिक़ दिल्ली में चिकनगुनिया और डेंगू का कहर ज़ोरों पर है.

सोमवार को दिल्ली में चिकनगुनिया की वजह से शहर में इस साल की पहली मौत होने की ख़बर है.

अख़बार के मुताबिक़ स्थानीय प्रशासन इन बीमारियों के ख़तरे को कम करके आंक रहा है और लापरवाही की वजह से बीमारियों पर काबू नहीं पाया जा सका है.

अख़बार के मुताबिक़ अब तक डेंगू और चिकनगुनिया के एक हज़ार से ज़्यादा मामले दिल्ली में सामने आ चुके हैं.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे