BBCHindi.com
अँग्रेज़ी- दक्षिण एशिया
उर्दू
बंगाली
नेपाली
तमिल
 
मंगलवार, 05 मई, 2009 को 01:30 GMT तक के समाचार
 
मित्र को भेजें   कहानी छापें
कड़े संघर्ष में फंसे राजनाथ सिंह
 

 
 
राजनाथ सिंह
राजनाथ सिंह गाग़ियाबाद से चुनाव लड़ रहे हैं
भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजनाथ सिंह उत्तर प्रदेश की गाज़ियाबाद लोक सभा सीट से चुनाव मैदान में हैं.

लेकिन उन्हें इस सीट पर कांग्रेस उम्मीदवार और स्थानीय नेता सुरेंद्र गोयल से कड़े संघर्ष का सामना करना पड़ रहा है.

राजनाथ सिंह पहली बार गाज़ियाबाद सीट से चुनाव लड़े रहे हैं जबकि कांग्रेस के सुरेंद्र गोयल सांसद हैं और इसके पहले वो यहाँ से विधायक रह चुके हैं.

समाजवादी पार्टी ने यहाँ से अपना उम्मीदवार नहीं उतारा है और उन्होंने कांग्रेस उम्मीदवार के समर्थन की घोषणा की है. साथ ही अजित सिंह के राष्ट्रीय लोक दल के खेकड़ा से विधायक मदन भैया पार्टी का साथ छोड़कर सुरेंद्र गोयल के पक्ष में आ गए हैं.

मदन भैया की गूजर समुदाय में अच्छी पैठ बताई जाती है.इसके अलावा बहुजन समाज पार्टी की ओर से अमरपाल शर्मा चुनाव मैदान में हैं.

राजनाथ सिंह की दिक्कत ये है कि ये चुनाव राष्ट्रीय मुद्दों के बजाए स्थानीय मुद्दों और जातिगत समीकरणों के आधार पर लड़ा जा रहा है जिसमें स्थानीय प्रत्याशी उन पर भारी पड़ते नज़र आ रहे हैं.

यही वजह है कि पिछले कुछ दिनों से राजनाथ सिंह ने गाज़ियाबाद में ही डेरा जमाए हुए हैं.

मुकाबला

बीबीसी से बातचीत में राजनाथ सिंह ने स्वीकार किया कि गाज़ियाबाद में कड़ा मुक़ाबला है, उनका कहना था कि मुक़ाबला होना भी चाहिए.

ये पूछे जाने पर कि वो किसे अपना निकटतम प्रतिद्वंद्वी मानते हैं, तो उनका जवाब था कि जितने भी प्रत्याशी हैं, वो सभी को निकटतम प्रतिद्वंद्वी मानते हैं, पर किसी को विरोधी नहीं मानते हैं.

दूसरी ओर कांग्रेस के उम्मीदवार सुरेंद्र गोयल उत्साह से भरे हुए हैं. चुनाव प्रचार के आख़िरी दिनों में वे दिन में छोटी-छोटी 25 से 30 सभाएं कर रहे हैं.

बीबीसी से बातचीत में सुरेंद्र गोयल ने कहा,"जनता चुनाव लड़ा रही है और हर समुदाय का समर्थन मिल रहा है."

उनका कहना था कि उन्हें समाजवादी पार्टी, राकेश टिकैत और मदन भैया का समर्थन हासिल है.

कांग्रेस उम्मीदवार का कहना था कि इसके पहले भी राजनाथ सिंह उत्तर प्रदेश के कई क्षेत्रों से लोक सभा और विधानसभा का चुनाव हार चुके हैं और इस बार गाज़ियाबाद में भी ऐसा ही होगा.

 
 
इससे जुड़ी ख़बरें
सुर्ख़ियो में
 
 
मित्र को भेजें   कहानी छापें
 
  मौसम |हम कौन हैं | हमारा पता | गोपनीयता | मदद चाहिए
 
BBC Copyright Logo ^^ वापस ऊपर चलें
 
  पहला पन्ना | भारत और पड़ोस | खेल की दुनिया | मनोरंजन एक्सप्रेस | आपकी राय | कुछ और जानिए
 
  BBC News >> | BBC Sport >> | BBC Weather >> | BBC World Service >> | BBC Languages >>