चॉकलेट में सूअर का डीएनए, कैडबरी के बहिष्कार की मांग

कैडबरी चॉकलेट इमेज कॉपीरइट Reuters

मलेशिया के मुस्लिम संगठनों ने चॉकलेट निर्माता कंपनी कैडबरी के उत्पादों के बहिष्कार की मांग की है.

मलेशिया में कैडबरी चॉकलेट की दो अलग-अलग किस्मों में सूअर का डीएनए पाया गया है जो इस्लामी नियमों का उल्लंघन है.

अधिकारियों की ओर से अचानक की गई एक जांच में सूअर के मांस के अवशेष मिलने पर सोमवार को कैडबरी मलेशिया ने बाज़ार से सारी डेयरी मिल्क चॉकलेट वापस ले ली थी.

मलेशिया के एक मुस्लिम खुदरा विक्रेता समूह का कहना है कि वह अपनी सभी 800 दुकानों में कैडबरी और क्राफ़्ट के उत्पादों की बिक्री रोक देगा.

दूसरी ओर कैडबरी ने सफ़ाई देते हुए कहा है कि उसके उत्पाद हलाल दिशा-निर्देशों के अनुसार हों ये सुनिश्चित करने के लिए वो इस्लामी मामलों के विभाग के साथ मिल कर काम कर रही है.

कंपनी ने आगे बताया कि अधिकारी और परीक्षण कर रहे हैं और इनके नतीजे एक हफ़्ते के भीतर आ जाएंगे.

मलेशिया मुस्लिम थोक और खुदरा विक्रेता संगठन के सलाहकार बज़ीर अहमद कहते हैं, "हालांकि केवल दो उत्पादों में मिलावट पाई गई है, लेकिन अन्य उत्पादों को बनाने के लिए भी यही प्रक्रिया अपनाई जाती है इसलिए हमें शक है कि शायद कैडबरी के सभी उत्पादों में इसी तरह की मिलावट मौजूद है."

'संवेदनशील'

इमेज कॉपीरइट

मुस्लिम बहुल आबादी होने के कारण मलेशिया में लगभग सभी उत्पादों की नियमित जांच होती है. इस जांच के ज़रिए ये सुनिश्चित किया जाता है कि वे इस्लामी क़ानून के अनुसार बनाए गए हों.

कैडबरी के बहिष्कार की मांग को लेकर खुदरा विक्रेता संगठन के साथ एक उपभोक्ता समूह भी जुड़ गया है. उन्होंने दर्जन भर से ज़्यादा उत्पादों के बहिष्कार की मांग की है.

अमरीकी खाद्य कंपनी क्रॉफ़्ट के उत्पादों को भी निशाना बनाया जा रहा है. क्रॉफ़्ट ने साल 2011 में कैडबरी को 19 अरब डॉलर में ख़रीद लिया था.

मुस्लिम उपभोक्ता संगठन के शोध के प्रमुख शेख अब्दुल करीम खदैद ने कुआलालंपुर में पत्रकारों से कहा, "इससे दूसरी कंपनियों को मलेशिया के लोगों की संवेदनाओं को बरकरार रखने और उनकी रक्षा करने की सीख मिलेगी."

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार