बीबीसी इंडिया बोल... लाइव टेक्स्ट

बीबीसी हिंदी की विशेष लाइव कमेंटरी. बीबीसी हिंदी की विशेष लाइव कमेंटरी.
यह अपने आप अपडेट होता रहेगा.

ताज़ा पेज देखें

IST 2028 बीबीसी इंडिया बोल में आज इतना ही. कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए आप सभी का बहुत बहुत शुक्रिया.

IST 2027 पर एक श्रोता कहते हैं कि भारत में समस्या भ्रष्टाचार के चलते है. न सरकार गंभीर है और न मीडिया कुछ गंभीर काम कर रहा है.

IST 2027 पश्चिम बंगाल से सुरेश कहते हैं कि मानव को ही इसे संभालना है, उसी ने स्थिति बिगाड़ी है.

IST 2026 एक श्रोता कहते हैं कि फ़िल्में भी इस मुद्दे पर जागरूकता लाने की दिशा में अहम भूमिका निभा सकती हैं.

IST 2024 एक अन्य श्रोता कहते हैं कि मीडिया को इसमें महत्वपूर्ण भूमिका निभानी चाहिए पर मीडिया ऐसा कर नहीं रही है.

IST 2021 वो कहते हैं कि जलवायु की चिंता पर कोई भी देश संजीदा नज़र नहीं आ रहा है.

IST 2020 बलदेव सिंह होशियारपुर पंजाब से कहते हैं कि जो अब हो रहा है, वो बहुत पहले हो जानी चाहिए थी.

IST 2019 बीबीसी ऑनलाइन से प्रतिक्रियाओं को रेडियो कार्यक्रम में शामिल किए जाने के बाद अब फिर श्रोताओं से हैं हम रूबरू.

IST 2013 राजस्थान से मनीष कहते हैं कि नदियों के बारे में चिंतित होने की ज़रूरत है.

IST 2012 सिरसा से जेसी सिंघल कहते हैं कि पिछले अंतरराष्ट्रीय सम्मेलनों में अमरीका ने लोगों को ठगा है और यही करता रहेगा.

IST 2011 राजस्थान की इंदू योजनाओं में भ्रष्टाचार का सवाल उठाती हैं. कोपनहेगन की सफलता पर उन्हें संदेह है.

IST 2010 बहस तेज़ और गंभीर हो रही है. सुरेश अग्रवाल कहते हैं कि विकसित होना ज़रूरी है. विज्ञान का इस्तेमाल प्रदूषण से निपटने के लिए किया जाए तो बेहतर होगा.

IST 2009 एक श्रोता ने उठाया सवाल कि अगर कटौती की तो क्या 2020 तक भारत विकसित हो पाएगा.

IST 2008 सुरेश अग्रवाल कहते हैं कि सम्मेलन में सहमति की ओर बढ़ना होगा, यह ज़रूरी है. पर संजय कुमार सवाल उठाते हैं कि क्या इसमें ईमानदारी की गारंटी भी है.

IST 2007 एक और श्रोता शामिल होते हैं और सुझाव देते हैं कि साधन संपन्न देशों को पहल करके आगे आना चाहिए.

IST 2005 संजय कुमार कहते हैं कि भारत सरकार की ताल नहीं बैठ रही है. वो कहते हैं कि भारत सरकार दबाव में है और मंत्री के भाषण से यह साफ है.

IST 2004 श्रोताओं के पास सवाल हैं... मसलन, नीतेश कहते हैं कि कोपनहेगन क्या निकालेगा कुछ रास्ता.

IST 2001 कार्यक्रम में हिस्सा लेने वाले पहले श्रोता हैं मणि. वो उठाते हैं सवाल कि क्या समाधान निकलेगा अंतरराष्ट्रीय सम्मलेन से.

IST 2000 बीबीसी इंडिया बोल में लाइव हिस्सा लेने के लिए डायल करें टोल फ्री 1800-11-7000

IST 1959 बीबीसी इंडिया बोल में आपका स्वागत है. आज का मुद्दा जलवायु परिवर्तन पर भारत और बाकी दुनिया कितनी गंभीर है..?

IST 1956 बीबीसी इंडिया बोल में आपका स्वागत है. लाइव अपडेट के साथ मैं हूं पाणिनि आनंद.

IST 1955 बीबीसी इंडिया बोल में अब बस पाँच मिनट... आज स्टूडियो में रेडियो पर होंगे मुकेश शर्मा.

IST 1935 बीबीसी इंडिया बोल में शामिल होने के लिए आएं टोल फ्री नंबर 1800-11-7000 पर या hindi.letters@bbc.co.uk पर

IST 1933 इसबार का विषय है- जलवायु परिवर्तन पर दुनिया कितनी गंभीर..?

IST 1930 बीबीसी इंडिया बोल की ओर से आप सभी का स्वागत. अब से कुछ देर में यानी 30 मिनट बाद हम होंगे आपसे रूबरू...लाइव

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.