बीबीसी इंडिया बोल... लाइव टेक्स्ट

बीबीसी हिंदी की विशेष लाइव कमेंटरी. बीबीसी हिंदी की विशेष लाइव कमेंटरी.
यह अपने आप अपडेट होता रहेगा.

ताज़ा पेज देखें

IST 2028 आज के कार्यक्रम में बस इतना ही... आप सभी लोगों का बहुत बहुत शुक्रिया.

IST 2028 मृत्युंजय कहते हैं कि उनके दोस्तों का कहता है कि संसाधनों के लिए भी एक तरह का संघर्ष पनपता जा रहा है.

IST 2027 अर्जुन राजस्थान से कहते हैं कि ऐसे सिरफिरे लोग केवल ऑस्ट्रेलिया में नहीं, दुनिया के हर देश में हैं. सरकार प्रतिबंध क्यों लगाए.

IST 2026 ऑस्ट्रेलिया से पल्लवी कहती हैं कि सम्मान पूरी तौर पर मिलता है. कर्मठ भारतीयों को बढ़ावा भी मिलता है. हाँ, अपराध बढ़ा है और यह गंभीर समस्या है.

IST 2026 सुनील कहते हैं कि जहाँ सम्मान नहीं वहाँ रोज़गार का या रहने का कोई मतलब नहीं.

IST 2025 रियाद से सुनील सिंह कहते हैं कि प्रतिबंध लगे क्यों अभिभावक जब बच्चो को पढ़ने के लिए भेजते हैं, और वहां आपके साथ हिंसा हो तो वहाँ क्यों जाएं.

IST 2024 आकाश सवाल उठाते हैं कि पुलिस ज़रूरी सतर्कता क्यों नहीं दिखा रही और कार्रवाई क्यों नहीं कर रही.

IST 2023 सवाल यह है कि केवल ऑस्ट्रेलिया को क्यों कोसें. भारत में क्या नहीं होता नस्लभेदी और जाति आधारित भेदभाव.

IST 2022 धनंजय कहते हैं कि प्रतिबंध लगा तो कूटनीतिक रिश्ते ख़राब होंगे. आकाश सरकार के वैकल्पिक प्रयासों पर ज़ोर देते हैं.

IST 2020 दिल्ली से आकाश कहते हैं कि जिस तरह की घटनाएं हुई हैं, उनपर सरकार कड़े क़दम क्यों नहीं उठाती.

IST 2019 सिडनी से नीरज कहते हैं कि नस्लवाद का हमला कहते भर से काम नहीं चलेगा. मीडिया खोजबीन करे.

IST 2018 ब्रजमोहन जी मानते हैं कि ऑस्ट्रेलिया में हो रही हिंसा नस्लभेद से प्रेरित है.

IST 2017 होशंगाबाद से एक श्रोता कहते हैं कि ऐसे हमलों पर तुरंत प्रतिक्रिया हो. मीडिया की सुर्खी या बहस का विषय मात्र न बनाएं.

IST 2014 पल्लवी ऑस्ट्रेलिया से कहती हैं कि हमले तो हो रहे हैं, नस्लभेद कहना स्पष्ट नहीं है.

IST 2013 एक अन्य श्रोता कहते हैं कि मीडिया ने ही इस मु्द्दे को इतना तूल दिया है.

IST 2012 धनंजय कहते हैं कि बिहार के लोगों के साथ जब महाराष्ट्र में हिंसा होती है तो मीडिया इतना प्रचार नहीं करता है.

IST 2011 ऑस्ट्रेलिया से नवजीत कहते हैं कि हिंसा की आशंका हम लोगों के साथ बनी हुई है और ऐसे ही चला तो हालात बिगड़ेंगे.

IST 2008 कार्यक्रम में गरमागरम बहस जारी. मृत्युंजय कहते हैं कि अनुकूल हो माहौल तभी लोग जाएं. वरना हिंसा और बढ़ेगी.

IST 2007 धनंजय नाथ कहते हैं कि प्रतिबंध लगाया तो वहाँ भारतीय छात्रों के बीच माहौल ख़राब होगा.

IST 2006 दिल्ली से मृत्युंजय कहते हैं कि नए छात्रों को ऑस्ट्रेलिया जाने से रोकना चाहिए. जबतक की स्थिति सुधर न जाए.

IST 2005 एक अन्य श्रोता जालौर, राजस्थान से कहते हैं कि प्रतिबंध एक ग़लत विकल्प. ऑस्ट्रेलिया की सरकार पर बनाएं दबाव.

IST 2004 एक श्रोता कहते हैं कि अगर भारत में ही अच्छी शिक्षा का प्रबंध हो तो वहाँ क्यों जाना पड़े.

IST 2003 वो कहती हैं कि नस्लभेद कहना ग़लत पर हज़ार से भी ज़्यादा हमले चिंता का विषय.

IST 2002 केनबरा से पल्लवी जैन कार्यक्रम में शामिल हैं. वो कहती हैं कि असुरक्षा की बात ग़लत है.

IST 2001 ऑनलाइन की प्रतिक्रिया के साथ कार्यक्रम की शुरुआत. पहले कॉलर हैं लाइन पर.

IST 2000 आज की चर्चा का विषय है ऑस्ट्रेलिया में भारतीय छात्रों पर हो रहे हमले.

IST 1959 स्वागत है आपका कार्यक्रम में. लाइव अपडेट के साथ. कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए कॉल करें 1800-11-7000 पर.

IST 1957 इसबार का विषय है- क्या भारतीय छात्रों के ऑस्ट्रेलिया जाने पर पाबंदी लगे...?

IST 1955 बीबीसी इंडिया बोल में आप सभी का स्वागत है. मैं हूँ पाणिनि आनंद... नमस्कार.

IST 1950 बीबीसी इंडिया बोल में अब बस कुछ ही मिनट और... रूपा झा आ चुकी हैं स्टूडियो में.

IST 1915 बीबीसी इंडिया बोल में शामिल होने के लिए आएं टोल फ्री नंबर 1800-11-7000 पर या hindi.letters@bbc.co.uk पर

IST 1915 इसबार का विषय है- क्या भारतीय छात्रों के ऑस्ट्रेलिया जाने पर पाबंदी लगे...?

IST 1915 बीबीसी इंडिया बोल की ओर से आप सभी का स्वागत. अब से कुछ देर में यानी 45 मिनट बाद हम होंगे आपसे रूबरू...लाइव

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.