बीबीसी इंडिया बोल... लाइव टेक्स्ट

बीबीसी हिंदी की विशेष लाइव कमेंटरी. बीबीसी हिंदी की विशेष लाइव कमेंटरी.
यह अपने आप अपडेट होता रहेगा.

ताज़ा पेज देखें

20.28 IST-आकाश ने अंत में कहा कि ये बहुत ही बेहतर है इससे कई नए खिलाड़ियों को मौक़ा मिलता है.

20.26 IST-लक्ष्मी कुमार ने इसमें भ्रष्टाचार नही होना चाहिए

20.25 IST-दुर्गानंद ने कहा कि इससे गाव में रहने वालों को कोई फ़ायदा नहीं हो रहा है

20.24 IST-एक श्रोता ने कहा कि इससे खेल में पैसे की अहमियत बढ़ी है

20.23 IST-भरत ने कहा कि ये अच्छा भी है और ख़राब है

20.21 IST-गोपालगंज के बबलु ने आइ पी एल की वकालत करते हुए कहा कि इससे देश का भला हो रहा है

20.20 IST-आकाश ने कहा कि पैसा आने से खेल का भला होता है

20.17 IST-एक श्रोता ने कहा कि आई पी एल दर असल इंडियन पैसा लीग है

20.16 IST- संयुक्त अरब अमीरात कहते से मोहम्मद कहते है कि सरकार को इसकी आमदनी का कुछ हिस्सा विकलांगों के लिए ख़र्च करना चाहिए

20.15 IST- आकाश कहते है कि क्रिकेटरों को भी पैसा कमाने का पूरा हक़ है

20.12 IST-लेकिन आकाश चोपड़ा इसका बचाव करते हुए कहते हैं कि जो लोग इसका विरोध करते है वो भी सारा मैच देखते हैं

20.11 IST-हर्ष का कहना है कि ये खेल नहीं सिर्फ़ धंधा है

20.11 IST-इसमे खेल भावना नहीं बल्कि पैसे का बोलबाला है

20.10 IST- आकाश चोपड़ा का कहना है कि लोग सिर्फ़ क्रिकेट को देखते है उनके मालिकों को नहीं

20.07 IST -एक स्रोता का कहना है कि इससे फिल्मकारों ने पैसा कमाना शुरू कर दिया है लेकिन इससे नए खिलाड़ियों को मौक़ा मिलता है

20.05 IST -तेजा राम कहते है कि इससे उनको बहुत दुख हुआ.

20.00 IST - रूपा झा श्रोताओं से रू-ब-रू हैं. इस बार इंडिया बोल का विषय है आईपीएल विवाद.

19.46 IST - कार्यक्रम में सीधे शामिल होने के लिए 1800117000 डॉयल करें

19.45 IST - बीबीसी हिंदी के लाइवटेक्सट में आपका स्वागत है.

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.