पुतिन: सीज़फ़ायर की आड़ में विद्रोही हो रहे हैं संगठित

SYRIA

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कहा है कि सीरिया के विद्रोही समूह मौजूदा युद्धविराम की आड़ में फिर से संगठित हो रहे हैं.

उन्होंने कहा कि अमरीका कुछ विद्रोही समूहों को समर्थन देता है और उसका ध्यान उनकी ताक़त को बनाए रखने पर है.

जबकि सोमवार से शुरु हुए युद्धविराम का लक्ष्य उदारवादी और चरमपंथी समूहों को अलग-अलग करना था.

पुतिन के मुताबिक़ युद्धविराम के बाद अमरीका इसका ठीक उल्टा कर रहा है.

पुतिन ने अमरीका से युद्ध विराम का समझौता पत्र सार्वजनिक करने को भी कहा.

इमेज कैप्शन,

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन

सीरिया में विद्रोहियों की भूमिका को लेकर अमरीका और रूस के बीच तनाव चल रहा है.

कर्गिस्तान दौरे के दौरान एक टेलीवि़जन टिप्पणी में पुतिन ने कहा, "सीरिया संधि के तहत रूस अपने दायित्व पूरे कर रहा है और सीरिया की सरकार भी पूरी तरह से इस समझौते पर टिकी हुई है लेकिन ऐसा लगता है कि अमरीका सरकार के साथ अपने संघर्ष में विद्रोहियों की सैन्य क्षमताओं को बरकार रखना चाहता है."

उन्होंने आगे कहा ये 'एक खतरनाक रास्ता' है.

वहीं अमरीकी रक्षा मंत्रालय ने शुक्रवार को बताया कि तुर्की के निवेदन पर अमरीका ने कथित इस्लामिक स्टेट (आईएस) के विद्रोहियों से लड़ने के लिए तुर्की की सीमा के साथ दर्ज़नों अमरीकी सैन्य दल तैनात किए हैं.

सीरिया में अमरीका और रूस के बीच हुए समझौते के तहत सोमवार को सूर्यास्त के बाद से युद्ध विराम लागू हो गया था.

रूस और अमरीका के बीच कई महीनों की बातचीत के बाद जिनेवा में नौ सितंबर को इस संघर्ष विराम के समझौते का ऐलान किया गया था.

सात दिन तक युद्ध विराम लागू होने के बाद अमरीका और रूस संयुक्त रूप से जिहादी चरमपंथियों पर हवाई हमले करेंगे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)