शारलेट में काले आदमी की हत्या के बाद प्रदर्शन

Charlotte shooting, america

अमरीका में उत्तरी कैरोलाइना के गर्वनर ने शारलेट शहर में राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड भेजते हुए आपातकाल की घोषणा कर दी है. पुलिस की गोली से एक काले आदमी की मौत के बाद से शहर में अशांति फैली हुई है.

प्रदर्शनकारियों द्वारा पत्रकारों और दूसरे लोगों पर हमला किए जाने, खिड़कियों को तोड़ने और आगज़नी की छुट पुट घटनाओं के बाद गवर्नर मैक्रॉरी ने आपातकाल की घोषणा की है.

मंगलवार को पुलिस की गोली से कीथ लैमन्ट स्कॉट नाम के एक काले व्यक्ति की मौत हो गई थी. वो 43 साल के थे. हालांकि गोली चलाने वाले पुलिस अधिकारी भी काले थे.

पुलिस की गोली से एक हफ़्ते के अंदर ये तीसरे काले व्यक्ति की मौत है.

इसके बाद से ही शहर में विरोध प्रदर्शन जारी है. इस दौरान एक प्रदर्शनकारी को गोली लगी है और उसकी हालत नाज़ुक बताई जा रही है.

दूसरी रात प्रदर्शन शांतिपूर्ण तरीके से शुरू हुआ था, लेकिन गोलीबारी के बाद शहर में हिंसा शुरू हो गई.

पुलिस ने सैकड़ों प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस का इस्तेमाल किया था. स्थानीय पुलिस विभाग द्वारा जारी बयान में कहा गया है कि इस प्रदर्शन में चार पुलिस अधिकारी भी घायल हुए हैं.

दंगा रोकने के लिए आए पुलिस अधिकारियों पर प्रदर्शनकारियों ने बोतल फेंकी और गोलीबारी भी हुई.

पुलिस के अनुसार स्कॉट के पास हथियार था और बार-बार कहने के बाद भी जब उन्होंने हथियार नीचे नहीं रखा तब पुलिस ने उन पर गोली चलाई. लेकिन स्कॉट के घर वालों का कहना है कि जब पुलिस ने गोली मारी उस समय वह किताब पढ़ रहे थे.

अमरीका में दो वर्षों में अफ्रीकी अमरीकियों के ख़िलाफ़ पुलिस बल का जानलेना इस्तेमाल पूरे देश में प्रदर्शनों का विषय बना हुआ है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)