हेती में 'मैथ्यू' में मरने वालों की संख्या 800 हुई

इमेज कॉपीरइट AFP

हेती में अधिकारियों ने कहा है कि तूफ़ान मैथ्यू के कारण मरने वालों की संख्या आठ सौ के करीब पहुंच गई है.

हेती की नागरिक सुरक्षा एजेंसी ने कहा है कि मरने वालों की संख्या दोगुनी हो कर करीब 800 गई है.

मंगलवार को हेती का दक्षिणी-पश्चिमी इलाका तूफ़ान की चपेट में आ गया था.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption तूफ़ान से जेरेमी शहर सबसे बुरी तरह प्रभावित हुआ है.

दक्षिणी पश्चिमी प्रायद्वीप का मुख्य शहर जेरेमी लगभग पूरी तरह तबाह हो चुका है और हज़ारों लोग बेघर हो गए हैं.

दक्षिणी सूबे सूद में 30,000 घर तहस-नहस हो गए हैं. 'मैथ्यू' ने हेती में इस क़दर नुकसान किया है कि वहां राष्ट्रपति चुनाव तक स्थगित करने पड़े हैं.

तूफ़ान से प्रभावित शहरों से संपर्क टूट गया है और सिर्फ समुद्र या फिर हेलिकॉप्टरों के ज़रिए इन जगहों पर पहुंचा जा सकता है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

ऐसी आशंका जताई जा रही है कि जब तक राहत टीमें दूरदराज़ के इलाकों में पहुंचेंगी मरने वालों की संख्या बढ़ सकती है.

संयुक्त राष्ट्र ने कहा है कि हेती में मैथ्यू तूफ़ान के प्रभाव की पूरी तस्वीर सामने आने में कई दिन लगेंगे.

विश्व खाद्य कार्यक्रम के कार्लोस वेलोसो ने बीबीसी से कहा कि कुछ राहत सामग्री पंहुच चुकी है. लेकिन यह इलाक़ा मोटे तौर पर कटा हुआ है. यहां सिर्फ़ समुद्री रास्ते या हेलीकॉप्टर के ज़रिए ही पंहुचा जा सकता है.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption अमरीका के फ़्लोरिडा समेत चार राज्यों में आपातकाल घोषित.

हेती में भारी तबाही मचाने के बाद समुद्री तूफ़ान मैथ्यू दक्षिणपूर्वी अमरीका पहुंच चुका है. यह फ़्लोरिडा तट से कुछ किलोमीटर दूर से गुजर रहा है.

अमरीका के राष्ट्रीय केंद्र ने कहा कि मैथ्यू अब फ़्लोरिडा के डेटोना बीच की तरफ़ 13 मील प्रति घंटे की रफ़्तार से बढ़ रहा है.

अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा है कि भले ही मैथ्यू से फ़्लोरिडा तट को ख़ास नुक़सान न हुआ हो यह अभी भी ख़तरनाक बना हुआ है. इससे तूफ़ान और बाढ़ की आशंका बनी हुई है.

अमरीका के चार राज्यों से दसियों लाख लोगों को अपने-अपने घरों से निकल सुरक्षित जगहों पर जाने को कह दिया गया है.

पांच लाख से ज़्यादा घरों की बिजली गुल हो गई है.

इससे पहले ही फ़्लोरिडा, जॉर्जिया और दक्षिण कैरोलाइना में आपातकाल लगा दिया गया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)