काबुल के प्रमुख शिया दरगाह पर हमला, 14 मरे

Kabul Attack

इमेज स्रोत, Reuters

अफ़ग़ानिस्तान की राजधानी काबुल की पुलिस का कहना है कि मुहर्रम के दिन हमलावरों ने एक शिया धर्मस्थल कार्ते सखी पर हमला किया है.

रिपोर्टों के मुताबिक़ धमाके के बाद गोलीबारी की आवाज़ भी सुनी गई थी.

इस हमले में कम से कम 14 लोग मारे गए हैं और 26 घायल हैं. मरने वालों में एक पुलिस अधिकारी भी हैं.

जिस समय शहर के प्रमुख शिया धर्मस्थल कार्ते सखी पर हमला हुआ उस समय वहां शिया समुदाय के लोगों की भारी भीड़ जमा थी.

शिया समुदाय के लोग इलामिक कैलेंडर के अनुसार मुहर्रम महीने की दसवी तारीख़ जिसे अशूरा भी कहा जाता है, उस दिन इमाम हुसैन की मौत को याद करते हुए मातम मना रहे थे.

इमाम हुसैन इस्लाम धर्म की बुनियाद रखने वाले पैग़म्बर मोहम्मद के नाती थे जिनकी 680 ईसवी में इराक़ के कर्बला के मैदान में हुई जंग में मौत हो गई थी.

दुनिया भर के मुसलमान मुहर्रम महीने की दस तारीख़ को उनकी 'शहादत दिवस' के रुप में मनाते हैं.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)